सड़क हादसे में जान गंवाने वाले शख्स को मिलेगा 1 करोड़ का मुआवजा

ट्राइब्यूनल ने कहा कि 'पे ऐंड रिकवर' के नियम के मुताबिक, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को मृतक के परिजन को मुआवजा देना चाहिए.
highest compensation, सड़क हादसे में जान गंवाने वाले शख्स को मिलेगा 1 करोड़ का मुआवजा

मुंबई में सड़क हादसे का शिकार हुए एक ऐंबुलेंस ड्राइवर के परिजन को एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. ये राशि मोटर वीइकल ऐक्सिडेंट क्लेम ट्राइब्यूनल की तरफ से दी जाएगी. मृतक के परिजन को ट्राइब्यूनल ने इंश्योरेंस कंपनी से ब्याज समेत मुआवजा राशि देने को कहा है. ट्राइब्यूनल के मुताबिक वो मुआवजे की राशि हादसे के जिम्मेदार से वसूलने के लिए स्वतंत्र है.

बता दें साल 2013 में BMC ऐंबुलेंस ड्राइवर रामचंद्र जोरे की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. नागपाड़ा में सड़क पार करते वक्त उसे 18 साल के एक युवक मोहम्मद अशरफ कुरैशी ने बाइक से टक्कर मार दी थी. जब रामचंद्र की मौत हुई उस समय उसका वेतन 68 हजार रुपये प्रतिमाह था. ट्राइब्यूनल ने बताया कि बाइक के मालिक खूबलाल प्रजापति को ये मालूम था कि युवक के पास गाड़ी चलाने का लाइसेंस नहीं है और इसके बावजूद उन्होंने बाइक दे दी.

ट्राइब्यूनल ने कहा कि ‘पे ऐंड रिकवर’ के नियम के मुताबिक, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को मृतक के परिजन को मुआवजा देना चाहिए. कंपनी बाइक के मालिक से यह राशि वसूलने को स्वतंत्र है. पति की मौत के बाद जोरे की पत्नी प्रणाली ने मुआवजे के लिए इंश्योरेंस कंपनी में क्लेम किया था.

ट्राइब्यूनल ने प्रणाली के पक्ष में फैसला सुनाते हुए 75.60 लाख रुपये का मुआवजा तय किया. इसके अलावा मौत की शिकायत दर्ज कराने की तारीख तक 7.5 प्रतिशत ब्याज भी जोड़ने का निर्देश दिया गया. इस तरह से प्रणाली को ब्याज समेत 37.60 लाख रुपये और बच्चों को 18.75 लाख रुपये दिए जाएंगे. बच्चों के बालिग होने तक राशि एक फिक्स्ड डिपॉजिट खाते में जमा कराई जाएगी.

ये भी पढ़ें- ‘जहां आतंकवाद की रेटिंग इतनी हाई हो, वहां कोई रेटिंग नहीं चलेगी’, FATF के बहाने PAK पर नकवी का तंज

Related Posts