आवारा पिल्लों को हेयरडाई से रंगा, ‘बीगल’ नस्ल बताकर हजारों में बेचा

मंबई के पशु अधिकार कार्यकर्ताओं और एनजीओ के कई लोगों का कहना है कि इसके पीछे किसी बड़े गिरोह का हाथ है.
Fake Breed Dogs, आवारा पिल्लों को हेयरडाई से रंगा, ‘बीगल’ नस्ल बताकर हजारों में बेचा

मुंबई में पशुप्रेमियों को ठगने का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां एक गिरोह आवारा पिल्लों को रंगकर उन्हें महंगी नस्ल का बताकर बेच रहे हैं. पशु अधिकार कार्यकर्ताओं ने वर्ली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसे अपराध के तौर पर दर्ज किए जाने की प्रक्रिया चल रही है.

मुंबई के पशु अधिकार कार्यकर्ताओं और एनजीओ के कई लोगों का कहना है कि इसके पीछे किसी बड़े गिरोह का हाथ है. उन्होंने बताया कि आवारा पिल्लों को रंगकर बेचने की शिकायत दक्षिण मुंबई के कॉफ्रॉड बाजार और शहर के कई हिस्सों से उन्हें मिली है.

लोगों ने बताया की उन्हें खबर मिली थी कि गार्नियर और अन्य बाल रंगने की डाई का इस्तेमाल कर आवारा पिल्लों को डाई किया जाता है. जिसके बाद उन्हें 18,000 से 20,000 रूपए तक में बेच दिया जाता है. एनजीओ में काम करने वाले एक कार्यकर्ता ने बताया कि असल में ये पिल्ले हल्के पीले रंग के थे, जो रंगाई के बाद काले रंग के हो गए. फिर इन्हे ‘बीगल’ नस्ल का बताकर बेच दिया गया.

डाई किया हुआ रंग आसानी से नहीं जाता और करीब तीन से चार महीने बाद उनका रंग फीका पड़ता है. तब जाकर लोगों को पता चलता है की उनके साथ ठगी हुई है. यह मुद्दा पशु अधिकार कार्यकर्ता और बम्बई पशु अधिकार नाम के एनजीओ ने सामने लाया. उन्होंने इस संबंध में सांसद मेनका गांधी को भी पत्र लिखा है.

ये भी पढ़ें- बिहार में मॉब लिंचिंग: मवेशी चोरी के आरोप में 3 लोगों को पीट-पीटकर मार डाला

Related Posts