पानी लेने कुएं में उतरी महिला की गिरकर मौत, सूखे के हालात पर मंत्री बोले- मीडिया का शिगूफा

महिला के परिजनों और गांववालों ने फैसला किया था कि मृतक महिला का अंतिम संस्कार तब तक नहीं किया जाएगा, जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होंगी.

मुंबई: एक तरफ तो नवनिर्वाचित जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत दावा करते हैं कि देश के पश्चिमी इलाकों में पानी की कोई कमी नहीं है. मंगलवार को मंत्री ने कहा था कि बांधों में बहुत पानी है और मीडिया के जरिए पानी की किल्लीत की गलत खबरें चलाई जा रही हैं. वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र के यवातमल जिले में पानी की किल्लत के कारण एक महिला की मौत हो गई.

45 वर्षीय एक महिला पानी की खोज के लिए इलाके में स्थित कुए में घुसी थी, लेकिन उस दौरान उसका पैर फिसल गया, जिसके कारण वह गहरे कुए में जा गिरी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. मतृक महिला की पहचान महागांव निवासी विमल राठौड़ के रूप में हुई है.

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, महागांव पुलिस थाना इंचार्ज दामोदर राठौड़ ने मामले की जानकारी देते हुए कहा, विमल आधे कुएं में घुसी गई थी. जब वह पानी के लिए थोड़ा और आगे बढ़ी तो उसका पैर फिसल गया और वह 40 फीट गहरे कुए में जा गिरी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत ही गई.

इस घटना के बाद से इलाके के लोगों में आक्रोश है. लोगों का कहना है कि उनके इलाके में पीने तक के लिए पानी नहीं है और पानी के कारण ही महिला की मौत हुई है. लोगों ने प्रशासन ने इलाके में पानी की मांग की है.

वहीं महिला के परिजनों और गांववालों ने फैसला किया था कि मृतक महिला का अंतिम संस्कार तब तक नहीं किया जाएगा, जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं की जाएंगी. इसके बाद प्रशासन ने परिजनों और ग्रामीणों से मुलाकात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि उनकी सभी मांगे पूरी की जाएंगी और मृतक महिला के परिजनों को आर्थिक रूप से भी सहायता पहुंचाई जाएगी. प्रशासन से मिले आश्वासन के बाद ही मृतक महिला का दाह-संस्कार किया गया.

 

ये भी पढ़ें-    पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध में बीजेपी का पैदल मार्च, हिंसक झड़प की आशंका

चमकी बुखार से 36 बच्चों की गई जान, आज बिहार पहुंचेगी केंद्रीय टीम

(Visited 118 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *