BJP में शामिल हुए नारायण राणे के बेटे नितेश राणे, कंकावली से मिल सकता है टिकट

नितेश राणे ने साल 2014 में कंकावली सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था और जीत भी दर्ज की थी.
maharashtra assembly election, BJP में शामिल हुए नारायण राणे के बेटे नितेश राणे, कंकावली से मिल सकता है टिकट

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे नितेश राणे गुरुवार को भाजपा में शामिल हो गए. राणे ने सिंधुदुर्ग में भाजपा की सदस्यता ली. राणे भाजपा के टिकट पर किस विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे, अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि राणे एक बार फिर कंकावली सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ सकते हैं.

कांग्रेस के टिकट पर जीता था चुनाव
राणे ने साल 2014 में कंकावली सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था और जीत भी दर्ज की थी. उन्होंने 25 हजार से ज्यादा वोटों से अपने विरोधी को हराया था. मालूम हो कि राणे के पिता नारायण राणे ने बुधवार को घोषणा की थी कि नितेश भाजपा के टिकट से कंकावली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे.

राणे के पिता ने दावा किया था कि नितेश का नाम भाजपा की दूसरी सूची में होगा. लेकिन भाजपा द्वारा जारी की गई दूसरी सूची में भी उनका नाम नहीं है. इसे लेकर कई तरह के सवाल उठने लगे थे. हालांकि भाजपा ने अभी तक कंकावली सीट से किसी उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की है.

राणे का वीडियो हुआ था वायरल
मालूम हो कि कुछ ही महीने पहले नितेश राणे का एक वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो में देखा गया कि राणे ने एक इंजीनियर पर बाल्टी भरकर कीचड़ ड़ाल दिया था. राणे पर यह भी आरोप है कि उन्होंने अपने सर्मथकों के साथ मिलकर इंजीनियर को रस्सी से बांध दिया था. इसे लेकर नितेश राणे की खूब किरकिरी हुई थी.

महाराष्ट्र में विधानसभा की कुल 288 सीटें हैं. राज्य में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव 2019 की वोटिंग होनी है. 24 अक्टूबर को मतों की गणना की जाएगी. इसे लकेर सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव प्रचार में जोरशोर से लगी हुई हैं. माना जा रहा है कि इस बार का महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव बेहद रोचक होने वाला है.

ये भी पढ़ें-

पी चिदंबरम को फिर लगा झटका, दिल्ली हाई कोर्ट ने 17 अक्टूबर तक बढ़ाई न्यायिक हिरासत

‘सबसे भरोसेमंद दस्तावेज स्कंद पुराण, जन्म स्थान की परिक्रमा करके प्राप्त होगा मोक्ष’

जम्‍मू के कई सीनियर नेता रिहा, गवर्नर के एडवाइजर बोले- हालात देख कश्‍मीरी लीडर्स को भी छोड़ेंगे

Related Posts