महाराष्‍ट्र में सरकार गठन की हलचल तेज, गवर्नर से मिलेंगे शिवसेना-NCP-कांग्रेस के नेता

NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि मध्‍यावधि चुनाव की कोई संभावना नहीं है. देर-सवेर राज्‍य में सरकार बन ही जाएगी.

Maharashtra Government Formation Live Updates : महाराष्‍ट्र में सत्‍ता के लिए गठबंधन अब तक फाइनल नहीं हो सका है. हालांकि NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि मध्‍यावधि चुनाव की कोई संभावना नहीं है. देर-सवेर राज्‍य में सरकार बन ही जाएगी. शिवसेना, NCP और कांग्रेस के बीच कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार है.

वहीं, पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस भी कह रहे हैं बीजेपी के अलावा महाराष्‍ट्र में कोई और सरकार नहीं बना सकता. बीजेपी महाराष्‍ट्र के अध्‍यक्ष चंद्रकांत पाटील ने दावा किया कि पार्टी के पास 119 विधायकों का समर्थन है. उन्‍होंने कहा कि सरकार बनाने के लिए जल्‍द कदम उठाए जाएंगे.

Maharashtra Government Formation Live Updates

  • महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस का रुख अब तक पूरी तरह से साफ नहीं है. सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस सबसे ज्यादा इस बात को लेकर समय ले रही है कि शिवसेना को समर्थन दिया जाए या नहीं. साथ ही जो रिपोर्ट महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं ने आलाकमान को सौंपी है, उसमें कई बदलाव भी किये जायेंगे. बालासाहेब ठाकरे की पुण्यतिथि में कांग्रेस शामिल होगी या नहीं, इस पर कांग्रेस का रुख साफ नहीं है. निमंत्रण आने के बाद पार्टी विचार करेगी.
  • आज तीनों दलों- शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के नेता गवर्नर भगत सिंह कोश्‍यारी से मिलेंगे. मुलाकात के लिए दोपहर तीन बजे का समय तय है.
  • शरद पवार ने कहा, “तीनों पार्टियां गंभीरता से राज्य में स्थिर सरकार चाहती हैं जो न्यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत राज्य की प्रगति और विकास पर टिकी होगी.” उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में तीनों पार्टियां लगातार वार्ता कर अपने न्यूनतम साझा कार्यक्रम तैयार कर रही है और अंतिम रोडमैप उसके बाद ही तैयार होगा.
  • सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना को मुख्यमंत्री का पद मिलेगा, लेकिन वह आधे कार्यकाल (30 महीने) या पूर्ण अवधि (पांच वर्ष) के लिए होगा, अभी तक इसका खुलासा नहीं हुआ है. उप-मुख्यमंत्री एनसीपी-कांग्रेस का हो सकता है.
  • शिवसेना के सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी ‘महाराष्ट्र में आगामी 25 सालों तक शासन करेगी.’ फड़णवीस पर व्यंग्य करते हुए राउत ने कहा कि उनकी पार्टी अब यह घोषणा नहीं करेगी कि ‘हम ही लौटेंगे, हम ही लौटेंगे, हम ही लौटेंगे.’

हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में बहुमत मिलने के बाद भी मुख्यमंत्री पद की दावेदारी को लेकर भाजपा-शिवसेना का गठबंधन टूट चुका है.

ये भी पढ़ें

शरद पवार ने देवेंद्र फडणवीस की ली चुटकी, कहा- ‘मुझे नहीं पता था वह ज्‍योतिष भी जानते हैं’

‘अटल ने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर सरकार चलाई, हम भी चलाएंगे’, राउत बोले- CM शिवसेना का ही होगा