शरद पवार ने देवेंद्र फडणवीस की ली चुटकी, कहा- ‘मुझे नहीं पता था वह ज्‍योतिष भी जानते हैं’

बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने की अटकलों पर शरद पवार ने कहा कि सरकार बनाने के लिए सिर्फ कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच बातचीत चल रही है. इसके अलावा किसी और से नहीं.
Will Run Full Term says Sharad Pawar, शरद पवार ने देवेंद्र फडणवीस की ली चुटकी, कहा- ‘मुझे नहीं पता था वह ज्‍योतिष भी जानते हैं’

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार ने शुक्रवार को दावा किया कि महाराष्‍ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस मिलकर सरकार बनाएंगे. उन्‍होंने इन सभी संभावनाओं को खारिज कर दिया कि तीनों दलों की सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी.

शरद पवार ने महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव की संभावनाओं को सिरे से खारिज कर दिया. शरद पवार ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार बनेगी और यह पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. महाराष्ट्र में फिलहाल राष्ट्रपति शासन है.

शरद पवार ने नागपुर में पत्रकारों से बातचीत में शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस की सरकार बनेगी और पूरे पांच साल चलेगी. उन्होंने आगे कहा, ‘हम सभी यही आश्वस्त करना चाहते हैं कि सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करे.’

बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने की अटकलों पर शरद पवार ने कहा कि सरकार बनाने के लिए सिर्फ कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच बातचीत चल रही है. इसके अलावा किसी और से नहीं.

शरद पवार ने देवेंद्र फडणवीस के उस बयान पर भी चुटकी ली, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि अगर शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की सरकार बनती है छह महीने से ज्‍यादा समय तक सरकार नहीं चल पाएगी.

पवार ने कहा, ‘मैं कुछ साल से देवेंद्र जी को जानता हूं, लेकिन यह नहीं पता था वह ज्योतिष के भी छात्र हैं.’

यह पूछे जाने पर कि क्या शिवसेना अपने हिंदुत्व एंजेंडे और उसी तरह कांग्रेस-राकांपा अपने धर्मनिरपेक्ष विचारधार के साथ समझौता करेगी, इस पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस-राकांपा ने हमेशा धर्मनिरपेक्षता की बात की है, ‘लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम किसी के विरुद्ध हैं.’

सत्ता-साझेदारी और मुख्यमंत्री पद को लेकर पूछे गए सवाल में उन्होंने कहा कि एक बार न्यूनतम साझा कार्यक्रम तैयार हो जाए और इसे सभी के द्वारा स्वीकार कर लिया जाए, उसके बाद सबकुछ तय हो जाएगा.

उम्मीद है कि पवार रविवार को नई दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे और यहां शिवसेना से हुई बातचीत से उन्हें अवगत कराएंगे और आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे.

Related Posts