महाराष्‍ट्र में फडणवीस सरकार गिराने वाले शरद पवार को BJP एमपी ने बताया भीष्‍म पितामह

उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज से बीजेपी सांसद ने कहा कि अगर शरद पवार नहीं होते तो 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' मतलब कांग्रेस, शिवसेना, एनसीपी गठबंधन के लिए सरकार बनाना अंसभव कार्य होता.'
Sharad Pawar played Bhishma role, महाराष्‍ट्र में फडणवीस सरकार गिराने वाले शरद पवार को BJP एमपी ने बताया भीष्‍म पितामह

नई दिल्ली: महाराष्‍ट्र में देवेंद्र फडणवीस की सरकार गिराने वाले शरद पवार को बीजेपी सांसद जगदंबिका पाल ने भीष्‍म पितामह कहकर उनकी तारीफ की है.

उन्‍होंने बुधवार को कहा कि महाराष्‍ट्र में कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना गठबंधन का श्रेय एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार को जाता है।

उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज से बीजेपी सांसद ने कहा कि अगर शरद पवार नहीं होते तो ‘महाराष्ट्र विकास अघाड़ी’ मतलब कांग्रेस, शिवसेना, एनसीपी गठबंधन के लिए सरकार बनाना अंसभव कार्य होता.’

Sharad Pawar played Bhishma role, महाराष्‍ट्र में फडणवीस सरकार गिराने वाले शरद पवार को BJP एमपी ने बताया भीष्‍म पितामह

जगदंबिका पाल ने कहा, “शरद पवार ने भीष्म पितामह की भूमिका निभाई. अगर वह वहां नहीं होते तो वे (शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस) महाराष्ट्र में सरकार बनाने की सोच भी नहीं सकते थे.”

उन्होंने कहा कि तीन पार्टियों का चुनाव के बाद बना नया गठबंधन तब तक चलेगा, जब तक ‘शरद पवार वहां हैं. यह पूछे जाने पर कि अगर बीजेपी के पास सरकार बनाने के लिए विधायकों की जरूरी संख्या नहीं थी, तो महाराष्ट्र में सरकार क्यों बनाई? इस सवाल के जवाब में जगदंबिका पाल ने कहा, “हम सरकार बनाने नहीं गए. एनसीपी के अजित पवार थे, जिन्होंने हमसे संपर्क किया.”

जगदंबिका पाल ने कहा, “हमने राकांपा को आमंत्रित नहीं किया, अजित पवार एनसीपी के 54 विधायकों के हस्ताक्षर वाला पत्र लेकर आए थे.”

बीजेपी नेता ने कहा कि उनकी पार्टी ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह सरकार नहीं बनाएगी, क्योंकि उसके पास बहुमत नहीं है. उन्होंने कहा, “यह अजित पवार का कदम था, जिसके कारण हमें राज्य में सरकार बनाने का दावा करना पड़ा. इसके बाद देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार को उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई. यह महाराष्ट्र में सबसे अल्पकालिक सरकार रही, जो शनिवार सुबह 8 बजे शपथ लेने के बाद सिर्फ 80 घंटे तक रही.”

Related Posts