महाराष्ट्र सरकार ने वापस लिए भीमा कोरेगांव हिंसा के दौरान दर्ज हुए 649 में से 348 मामले

मराठा आरक्षण की मांग के दौरान हुए प्रदर्शन को लेकर भी कुल 548 मामले दर्ज हुए थे, जिनमें से 460 मामले महाराष्ट्र सरकार ने वापस ले लिए हैं.
Bhima Koregaon violence, महाराष्ट्र सरकार ने वापस लिए भीमा कोरेगांव हिंसा के दौरान दर्ज हुए 649 में से 348 मामले

पिछले कुछ सालों में आंदोलनकरियों पर दर्ज किए गए कई मामलों को महाराष्ट्र सरकार ने वापस ले लिया है. भीमा कोरेगांव हिंसा के दौरान कुल 649 मामले दर्ज हुए थे, जिसमें से 348 मामले सरकार ने वपास ले लिए हैं.

मराठा आरक्षण की मांग के दौरान हुए प्रदर्शन को लेकर भी कुल 548 मामले दर्ज हुए थे, जिनमें से 460 मामले महाराष्ट्र सरकार ने वापस ले लिए हैं. वहीं नाणार में रिफाइनरी प्रोजेक्ट के खिलाफ आंदोलन करने वालों पर 5 मामलों में से 3 मामले वापस लिए गए हैं.

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को मीडिया ब्रीफिंग में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र सरकार ने भीमा कोरेंगांव हिंसा से जुड़े 348 और मराठा विद्रोह से जुड़े 460 मामले वापस ले लिए हैं.


ये भी पढ़ें : ‘दंगे तो जिंदगी का हिस्सा हैं पहले भी होते रहे हैं’- दिल्ली हिंसा पर बोले हरियाणा के मंत्री

Related Posts