महाराष्‍ट्र में सरकार गठन की स्थिति साफ नहीं, गवर्नर ने NCP को दिया न्‍यौता

भाजपा के सरकार बनाने से इंकार करने से बाद राज्यपाल बीएस कोश्यारी ने महाराष्‍ट्र की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने का न्‍यौता दिया था.

महाराष्‍ट्र में नई सरकार की सूरत बनती दिख रही है. कट्टर विरोधी मिलकर सरकार बनाने की तैयारी में हैं. कांग्रेस और NCP ने शिवसेना को समर्थन देने का मन बना लिया है. शिवसेना कोटे से केंद्र में मंत्री अरविंद सावंत ने इस्‍तीफा दे दिया है. इसी के साथ 1989 से NDA का हिस्‍सा रही शिवसेना अब अलग हो गई है.

सोमवार को शिवसेना, कांग्रेस और NCP का शीर्ष नेतृत्‍व मीटिंग्‍स में बिजी रहा. उद्धव ठाकरे और शरद पवार के बीच मुंबई में मुलाकात हुई. वहीं, सोनिया गांधी दिल्‍ली में कांग्रेसियों से मिलीं.

महाराष्‍ट्र में राजनीतिक संकट की लाइव कवरेज देखें TV9 भारवतर्ष पर

Maharashtra Govt Crisis Latest Updates

  • अब एनसीपी के नेता राज्यपाल से मुलाकात करने जा रहे हैं.
  • राज्यपाल ने मिलने के बाद आदित्य ठाकरे ने मीडिया से मुलाकात की. उन्होंने कहा, ‘राज्यपाल ने कल हमे आमंत्रण दिया था, और 24 घंटे के अंदर हमे यह बताना था कि हमारी सरकार बनाने की इच्छा हैं या नहीं. हमने राज्यपाल के सामने सरकार बनाने कि इच्छा जताई है और हमने राज्यपाल से 48 घंटे का समय मांगा था.’
  • आगे उन्होंने कहा कि हमें जो दूसरी राजनैतिक पार्टियां सपोर्ट कर रही उन्हें अपना प्रोसीजर पूरा करने के लिए दो दिनों की मोहलत चाहिए, यानी हमे 48 घंटे चाहिए, लेकिन राज्यपाल ने हमें मोहलत नहीं दी. आदित्य ठाकरे ने कहा कि राज्यपाल ने हमें समय नहीं दिया,लेकिन हमारा क्लेम अभी सत्ता बनाने का है.
  • तीन निर्दलीय विधायकों ने भी शिवसेना को दिया समर्थन, पहुंचे राजभवन
  • गहलोत विधायकों को देगें जानकारी, सैद्धान्तिक तौर पर कैसे हुआ समझौता
  • सरकार बनाने का दावा पेश करेगी शिवसेना
  • कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन दिया
  • कांग्रेस ने 44 विधायकों का समर्थन दे दिया है, लेकिन सरकार बनाने पर सस्‍पेंस है.
  • कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन की पुष्टि की है और किसी प्रकार की गफलत न हो, इसलिए कांग्रेस नेता भी समर्थन पत्र के साथ राजभवन जा रहे हैं
  • कांग्रेस ने शिवसेना को सौंप दी है समर्थन की चिट्ठी
  • एनसीपी नेता भी समर्थन पत्र लेकर राजभवन की तरफ निकले
  • एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात के बाद सोमवार को उद्धव ठाकरे ने सोनिया गांधी से फोन पर बात की. सूत्रों के मुताबिक, उद्धव ने सोनिया गांधी से समर्थन मांगा. सोनिया गांधी ने जवाब में कहा कि वह इस मुद्दे पर विधायकों की राय जानने के बाद ही कोई जवाब देंगी.
  • एनसीपी सूत्रों का दावा है बीजेपी के 6 से 7 विधायक उनके संपर्क में हैं. इन सभी ने अजित पवार से संपर्क साधा है. जरूरत पड़ने पर बीजेपी का साथ छोड़ सकते है. इनमें से 2 विधायक सतारा और एक पुणे से है.
  • उद्धव के करीबी नेता मिलिंद नारवेकर और शिवसेना नेता अनिल देसाई ने दिल्‍ली में वरिष्‍ठ कांग्रेसी और सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल से मुलाकात की है.
  • NDA सरकार से इस्‍तीफा देने के बाद अरविंद सावंत प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि महाराष्‍ट्र में बीजेपी ने समझौता तोड़ा. बीजेपी ने 50-50 फार्मूले की बात कही थी, मगर माना नहीं. उन्‍होंने कहा कि “बीजेपी ने चुनाव पूर्व किया गया वादा तोड़ा. मेरे लिए केंद्र में बने रहना नैतिक रूप से ठीक नहीं होता, इसलिए मैंने केंद्रीय मंत्री पद से त्‍यागपत्र दे दिया.” सावंत ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने उद्धव को झूठा साबित करने की कोशिश की.

Maharashtra Govt Crisis, महाराष्‍ट्र में सरकार गठन की स्थिति साफ नहीं, गवर्नर ने NCP को दिया न्‍यौता

उद्धव-पवार की मीटिंग, आदित्‍य को CM बनाने पर राजी नहीं NCP

  • NCP सूत्रों के मुताबिक, अगर उद्धव मुख्‍यमंत्री नहीं बनते तो कोई वरिष्‍ठ चेहरा सीएम बनेगा. इसका मतलब यह भी है कि आदित्‍य ठाकरे के नाम पर NCP राजी नहीं है.
  • मुंबई के बांद्रा इलाके में स्थित ताज लैंड्स एंड होटल में उद्धव ठाकरे, संजय राउत और शरद पवार के बीच मीटिंग चल रही है. महाराष्‍ट्र में सरकार गठन का रास्‍ता आखिरकार साफ हो सकता है.
  • उद्धव ठाकरे अपने घर से निकले हैं. आदित्‍य ठाकरे के साथ वह NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात कर सकते हैं.
  • शरद पवार कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मिलने दिल्‍ली नहीं जाएंगे.

जानें कौन है वो शिवसेना का ‘मैजिक मैन’ जिसने बदल दिए महाराष्ट्र के सियासी समीकरण

  • NCP ने कहा है कि जब तक कांग्रेस का फैसला नहीं होता, NCP अपना फैसला नहीं बताएगी. कांग्रेस CWC की एक और मीटिंग शाम 4 बजे होनी है.
  • शिवसेना आज शाम 4 बजे राजभवन जाएगी. गवर्नर से मुलाकात करके शिवसेना सरकार बनाने के लिए अपना दावा पेश कर सकती है.
  • पूर्व सीएम महाराष्ट्र सुशील कुमार शिंदे विस्टा रिजॉर्ट पहुंचे हैं. कांग्रेस विधायकों के साथ अशोक चौहान और पृथ्वीराज चव्हाण भी मौजूद हैं. शिवसेना की भूमिका साफ होने के बाद बीजेपी अपनी कोर कमिटी के साथ एक और बैठक कर सकती है.
  • कांग्रेस के 40 विधायकों ने अंतरिम अध्‍यक्ष को एक चिट्ठी सौंपी है. इसमें कहा गया है कि पार्टी को शिवसेना का समर्थन करना चाहिए.

सरकार बनाने की जोड़-तोड़ तेज

  • शिवसेना नेता अरविंद सावंत थोड़ी देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर अपना इस्‍तीफा सौंपेंगे. उसके बाद वह प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करेंगे.
  • शिवसेना सांसद संजय राउत पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलने ‘मातोश्री’ पहुंचे. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, उद्धव ठाकरे की और सोनिया गांधी की मुलाकात हो सकती है. दूसरी तरफ, एनसीपी की बैठक जारी है.
  • वरिष्ठ NCP नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा, “हमारे पास कोई जनादेश नहीं हैं. जिनके पास जनादेश है, उन्हें बनाना चाहिए. हमारा रुख कई बार स्पष्ट हो चुका है. सरकार का गठन कोई आसान काम नहीं है, और कई मुद्दे तस्वीर में उभरते हैं. हमारा अब भी किसी के साथ कोई गठबंधन नहीं हुआ है.
  • सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हो रही है. इसमें हिस्‍सा लेने वरिष्‍ठ कांग्रेसी अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खडगे पहुंचे हैं.
  • महाराष्‍ट्र कांग्रेस के सभी विधायकों को अब मुंबई लाया जा रहा है. वह सभी जयपुर से मुंबई आ रहे हैं. दोपहर तीन बजे तक मुंबई पहुंच सकते हैं. ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि अगर राज्यपाल के सामने विधायकों की परेड करानी पड़े तो उसके लिए सभी मौजूद हों.
  • अरविंद सावंत के इस्‍तीफे पर NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा, ”मेरी किसी के इस्‍तीफे को लेकर किसी से बात नहीं हुई है. हम आज कांग्रेस से बात करेंगे. जो भी फैसला लेना होगा, वह कांग्रेस से बातचीत के बाद ही होगा.

संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना, NCP-कांग्रेस पर डाले डोरे

  • राउत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा. राउत ने जम्‍मू-कश्‍मीर में रहे बीजेपी और पीडीपी गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि “महबूबा मुफ्ती और बीजेपी का जो रिश्ता था क्या वो लव जिहाद था क्या?
  • संजय राउत ने एनसीपी और कांग्रेस के बारे में कहा, “मेरा दोनों पक्षों से आह्वान है, आपकी परीक्षा की घड़ी है. शरद पवार और कांग्रेस के नेता ये चाहते हैं कि हम सब मिलकर सरकार बनाएं. कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत सरकार बनाने की दिशा में काम चल रहा है.
  • शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, “राज्यपाल ने (शिवसेना को) सिर्फ 24 घंटे की मुद्दत दी है, बीजेपी को 72 घंटे का समय दिया था. हमें ज्यादा समय देने की ज़रूरत थी. राज्यपाल हमें ज्यादा समय देते तो अच्छा होता लेकिन हमारी कोई शिकायत नहीं है राज्यपाल से.” राउत ने कहा कि महाराष्‍ट्र को राष्‍ट्रपति शासन की तरफ ढकेलने का काम हो रहा है.
  • शिवसेना के बीजेपी और एनडीए संग रिश्‍ते के सवाल पर राउत ने कहा, “ये कैसा रिश्ता है? अब ये रिश्ता सिर्फ औपचारिक है.”
  • शिवसेना सांसद ने कहा कि “(बीजेपी के) झूठ और अहंकार की वजह से राज्य की स्थिति हुई है. बीजेपी ने कहा, शिवसेना हमारे साथ आने को तैयार नहीं, ये उनका अहंकार है. महाराष्‍ट्र की जनता का अपमान है. जो एग्रीमेंट था, अगर दोनों अमल करते तो आज महाराष्‍ट्र में ये स्थिति नहीं होती. इस अहंकार को जनता का अपमान मानते हैं.”
  • शिवसेना सांसद संजय राउत प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा, “बीजेपी के नेताओं का निवेदन मैंने सुना है. बीजेपी सत्ता स्थापित नही कर सकी, इसका ठीकरा शिवसेना पर फोड़ना उचित नहीं. BJP विरोधी पक्ष में बैठने को तैयार है लेकिन 50-50 फॉर्मूला नही मानेंगे, ये तय किया. ये एक तरह का द्वेष है.”

महाराष्ट्र की तस्‍वीर अब तक साफ नहीं

  • महाराष्‍ट्र के हालत पर बीजेपी सांसद परेश रावल ने ट्वीट किया है, “गढ़ आया पर सिंह गया.”

  • मुंबई कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने ट्वीट करके महाराष्ट्र में अगले साल चुनाव होने की संभावना जताई है. वे लिखते हैं, “इससे फर्क नहीं पड़ता कि कौन कैसे सरकार बनाता है. लेकिन महाराष्‍ट्र की राजनीतिक अस्थिरता को नकारा नहीं जा सकता. जल्‍द चुनाव के लिए तैयार हो जाइए. 2020 में चुनाव हो सकते हैं. क्‍या हम शिवसेना को साथ लेकर चुनाव में जा सकते हैं?

  • एनसीपी ने कहा है कि अभी तक सिर्फ अरविंद सावंत ने इस्तीफे की बात कही है, इस्तीफा दिया नहीं है. एनसीपी इस्तीफा देने का इंतजार कर रही है. आधिकारिक तौर पर शिवसेना ने ये घोषणा नही की है कि वो बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ रहे हैं. आधिकारिक घोषणा के बाद एनसीपी अपनी रणनीति तैयार करेगी.
  • महाराष्‍ट्र के मद्देनजर आज बैठकों का दौर चलेगा. शिवसेना विधायकों की बैठक जारी है. एनसीपी ने सुबह 10 बजे अपने वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है. देवेंद्र फडणवीस के निवास पर आज बीजेपी के कोर ग्रुप की बैठक होगी.

अरविंद सावंत केंद्रीय मंत्रिमंडल से देंगे इस्‍तीफा

  • केंद्र सरकार में मंत्री अरविंद सावंत ने कहा है कि वह मंत्रिमंडल से इस्‍तीफा देंगे. सावंत शिवसेना कोटे से मंत्री थे. वह सुबह 11 बजे प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करेंगे. तय हो गया है कि शिवसेना ने NDA छोड़ने का फैसला कर लिया है.

  • शिवसेना सांसद संजय निरुपम का एक और ट्वीट आया है. पिछले कुछ दिन से रोज सुबह वह एक शायरी ट्वीट करते हैं. आज उन्‍होंने लिखा है, “रास्ते की परवाह करूंगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी…

  • आज ‘सामना’ के संपादकीय में अयोध्या पर फैसले को ‘ऐतिहासिक’ बताया गया है. अखबार ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की सराहना की है. ‘सामना’ में लिखा है इस निर्णय का राहुल गांधी ने अत्यंत शालीनता से स्वागत किया है और ये सामंजस्यपन है. AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी को गलत बयानबाजी से बचने को कहा गया है.

अब शिवसेना, कांग्रेस, NCP के सामने ये हैं विकल्‍प

  • कांग्रेस के महाराष्‍ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे आज पार्टी की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं. NCP अध्‍यक्ष शरद पवार मंगलवार को सोनिया से मिलेंगे. उन्‍होंने रविवार को जयपुर में कांग्रेस विधायकों से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक, ज्यादातर विधायक शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार को समर्थन देने के पक्षधर हैं.
  • राजभवन की तरफ से भेजे गए पत्र पर कोई समयसीमा नहीं तय की गई है. माना जा रहा है है कि शिवसेना के पास राज्यपाल के सामने सरकार बनाने के लिए जरूरी विधायकों की संख्या के साथ दावा करने के लिए 24 घंटे का समय है.

कांग्रेस और NCP ने साफ कर दिया है कि उनका समर्थन इस शर्त पर होगा कि शिवसेना, भाजपा के साथ अपना गठबंधन समाप्त कर दे. उसके बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल में उसके एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत इस्तीफा दे दें.

NCP ने शनिवार को कहा था कि अगर BJP और शिवसेना सरकार नहीं बना पाती है तो हम (कांग्रेस-NCP) वैकल्पिक सरकार बनाएंगे. इस मुद्दे पर चर्चा के लिए उसने 12 नवंबर को विधायकों की बैठक बुलाई है. पेंच यह है कि कांग्रेस ने कहा है कि वह विपक्ष में बैठेगी.

कांग्रेस के 44 विधायक खरीद-फरोख्त के डर से कांग्रेस शासित राजस्थान में जयपुर के एक रिजॉर्ट में जमे हुए हैं. नई विधानसभा में BJP 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है. 56 विधायकों के साथ शिवसेना दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है.

ये भी पढ़ें

महाराष्‍ट्र: BJP का सरकार बनाने से इनकार, अब शिवसेना, कांग्रेस, NCP के सामने ये हैं विकल्‍प