LIVE: कांग्रेस-एनसीपी की बैठक खत्म, अहमद पटेल बोले- राष्ट्रपति शासन की कड़ी आलोचना करता हूं

राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने सोमवार देर शाम एनसीपी को महाराष्ट्र में अगली सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया.
maharashtra bjp shivsena ncp congress, LIVE: कांग्रेस-एनसीपी की बैठक खत्म, अहमद पटेल बोले- राष्ट्रपति शासन की कड़ी आलोचना करता हूं

महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लग सकता है. सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय कैबिनेट ने मंगलवार को बैठक में इसको मंजूरी दे दी. अब राष्‍ट्रपति इसपर अंतिम निर्णय लेंगे. महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए एक पखवाड़े से ज्‍यादा वक्‍त बीत चुका है.

बीजेपी और शिवसेना के अलग होने के बाद, कांग्रेस और NCP ने कोशिशें शुरू कीं, मगर सफलता नहीं मिल सकी. राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने सोमवार देर शाम एनसीपी को राज्य में अगली सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था.

Live Updates: (कांग्रेस और एनसीपी की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस)

  • कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि आज जैसे राष्ट्रपति शासन लागू हुआ मैं उसकी आलोचना करता हूं, इस सरकार ने 5 साल में किसी भी नियम को नहीं माना है. लोकतंत्र का मजाक बनाया है. गवर्नर ने कांग्रेस को न्योता नहीं दिया ये बिल्कुल गलत बात है.
  • आज कांग्रेस और एनसीपी जिन्होंने चुनाव में साथ लड़ा था. हमने साथ चर्चा की.
  • महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मंगलवार को राजनीतिक पार्टियों को चौंकाते हुए, राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की अनुशंसा वाली एक रिपोर्ट राष्ट्रपति को भेजी है. राजभवन की ओर से घोषणा के अनुसार, “महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी इस बात से संतुष्ट हैं कि चूंकि राज्य सरकार को संविधान के अनुसार नहीं चलाया जा सकता. उन्होंने इस बाबत संविधान के अनुच्छेद 356 के प्रावधानों पर विचार करने के बाद आज एक रिपोर्ट दाखिल की है.
  • शिवसेना ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की है. इस याचिका में शिवसेना की ओर से कहा गया है कि सरकार बनाने की उनकी क्षमता को साबित करने के लिए पार्टी को समय नहीं दिया गया. वकील सुनील फर्नांडीज ने शिवसेना के लिए याचिका दायर की है.
  • राष्‍ट्रपति शासन के खिलाफ शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. याचिका में पार्टी ने कहा है कि गवर्नर ने उसे सरकार बनाने के लिए तीन दिन का समय ना देकर गलत किया. मामले की लिस्टिंग के बारे में अभी तक सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों को कुछ नहीं बताया है. अगर याचिका मंजूर होती है तो CJI रंजन गोगोई अपने आवास पर सुनवाई करेंगे.
  • NCP नेता नवाब मलिक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि विधायकों ने शरद पवार पर फैसला छोड़ा है. मलिक के मुताबिक, गवर्नर ने उन्‍हें आज रात 8.30 बजे तक का वक्‍त दिया है. वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खडगे और केसी वेणुगोपाल मुंबई जा रहे हैं और पवार से शाम 5 बजे मिलेंगे. इसी के बाद नई सरकार पर कोई फैसला होगा.
  • BRICS देशों की बैठक में हिस्‍सा लेने के लिए ब्राजील रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट की बैठक ली. सूत्रों के मुताबिक, इसमें महाराष्‍ट्र के राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई. कैबिनेट ने राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश मान ली है. अब गृह मंत्रालय की तरफ से राष्‍ट्रपति को महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की जाएगी.
  • शिवसेना की नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया है, “जब तक NCP को दिया समय खत्‍म नहीं होता, माननीय राज्‍यपाल कैसे राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश कर सकते हैं?”

  • डीडी न्‍यूज के मुताबिक, राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की है. शिवसेना इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में है. उद्धव ठाकरे ने कपिल सिब्‍बल और अहमद पटेल से बात की है. सिब्‍बल अदालत में शिवसेना का पक्ष रख सकते हैं.
  • अगर एनसीपी का नेता महाराष्ट्र की सीएम बनता है तो आपकी पार्टी का क्या स्टैंड होगा? इस सवाल के जवाब में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पहले निकाह होगा, उसके बाद सोचेंगे कि बेटी होगी या बेटा. अभी तो निकाह ही नहीं हुआ है.

  • कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने ट्वीट करके बताया है कि सोनिया गांधी ने तीन नेताओं को मुंबई जाने का निर्देश दिया है. उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी ने आज सुबह शरद पवार से बात की है और मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल और मुझे मुंबई जाने के निर्देश दिए हैं. तीनों नेता मुंबई जाकर शरद पवार से मिलेंगे.

  • महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उठा-पटक के मद्देनजर बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बुधवार को बैठक बुलाई है. बुधवार शाम 4:00 बजे महासचिवों के साथ बैठक होगी. सभी महासचिवों को बैठक में रहना आवश्यक है.
  • सूत्रों के मुताबिक, बैठक में महाराष्ट्र की मौजूदा राजनीतिक हालात और राम मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पार्टी की आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी.
  • बीजेपी नेता आशीष शेलार ने लीलावती हॉस्पिटल जाकर संजय राउत से मुलाकात की है.

  • इस बीच सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कहा है कि एनसीपी के साथ चुनाव लड़ें हैं और फैसला भी साथ मिलकर लिया जाएगा.
  • शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे संजय राउत से मिलने पहुंचे लीलावती अस्पताल पहुंचे हैं.
  • शिवसेना नेता संजय राउत हॉस्पिटल से ही पार्टी का कामकाज देख रहे हैं. राउत सोमवार को सीने में तकलीफ की शिकायत के बाद लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे.

maharashtra bjp shivsena ncp congress, LIVE: कांग्रेस-एनसीपी की बैठक खत्म, अहमद पटेल बोले- राष्ट्रपति शासन की कड़ी आलोचना करता हूं

  •  एनसीपी नेताओं की मुंबई में बैठक चल रही है. बैठक में सरकार गठन को लेकर चर्चा हो रही है. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर भी महाराष्ट्र को लेकर बैठक चल रही है.
  • कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल और एके एंटनी पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने जनपथ पहुंचे हैं. माना जा रहा है कि इस मुलाकात में महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चर्चा होगी.
  • एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से कांग्रेस के साथ बैठक के बारे में पूछा गया. इस पर उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि ‘किसने कहा है कि बैठक होगी? मुझे नहीं पता.’

  • एनसीपी नेता अजीत पवार ने कहा, “जो भी फैसला लिया जाएगा, वह एकसाथ लिया जाएगा. हम कल कांग्रेस के रिस्पॉन्स का इंतजार कर रहे थे, मगर उनकी तरह से कोई जवाब नहीं आया. हम इसका फैसला अकेले नहीं लेंगे. यहां कोई गलतफहमी नहीं है. हमने एक साथ चुनाव लड़ा है और हम साथ हैं.”

  •  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री और शिवसेना सांसद अरविंद सावंत का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को सावंत के मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है.
  • एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में शिवसेना नेता संजय राउत से मुलाकात की. रात में सीने में दर्द की शिकायत के बाद सोमवार को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

  • कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने ट्वीट करके कहा है कि कांग्रेस के पास सरकार बनाने के लिए कोई नैतिक अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि ये बीजेपी और शिवसेना का फेलियर है कि उन्होंने राज्य को राष्ट्रपति शासन के कगार पर खड़ा कर दिया है.

  •  शिवसेना नेता संजय राउत ने राज्य के सियासी संकट पर एक बार फिर ट्वीट किया है. संजय राउत ने लिखा कि “लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, बच्चन. हम होंगे कामयाब, जरूर होंगे’.

  •  महाराष्ट्र कांग्रेस नेता कंग्डा चंड्या पडवी ने महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बड़ा बयान दिया है. कांग्रेस नेता ने कहा, “सरकार गठन की प्रक्रिया जारी है. अंतिम परिणाम पॉजिटिव होगा. निजी तौर पर मैं ऐसा मानता हूं कि शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी मिलकर सरकार बनाएंगी. और शिवसेना का नेता मुख्यमंत्री बनेगा.”

  • महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने की भी चर्चा चल रही है. बीजेपी और शिवसेना पहले ही सकार गठन के लिए बहुमत नहीं जुटा पाई हैं. राज्यपाल ने अब एनसीपी को बहुमत पेश करने के लिए आमंत्रित किया है.
  • राजनीतिक जानकार यह मानकर चल रहे हैं कि एनसीपी के लिए बहुमत जुटा पाना आसान नहीं होगा. ऐसे में इस बात के संकेत ज्यादा नजर आ रहे हैं कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है.
  • महाराष्ट्र में हाल ही में समन्न हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी. बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को बहुमत मिला था. इस लिस्ट में देखिए कि किस पार्टी को मिलीं कितनी सीटें…

maharashtra bjp shivsena ncp congress, LIVE: कांग्रेस-एनसीपी की बैठक खत्म, अहमद पटेल बोले- राष्ट्रपति शासन की कड़ी आलोचना करता हूं

  •  एनसीपी नेता अजीत पवार ने बताया कि मंगलवार को एनसीपी और कांग्रेस के बीच बैठक होगी. वरिष्ठ नेताओं के साथ मिलकर हम शिवसेना के समर्थन और सरकार गठन के बारे चर्चा करेंगे.
  • पूर्व उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने मीडिया को बताया कि राज्यपाल ने उन्हें रात 8.30 बजे बुलाया और वह आधा दर्जन अन्य नेताओं के साथ उनसे मिलने के लिए राजभवन जा रहे हैं. लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है कि उन्होंने क्यों बुलाया है.

  • एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने सोमवार को कहा कि राज्यपाल ने हमारे प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया है. संकेत है कि एक आमंत्रण पत्र हमें दिया जाएगा. कल हम अगली सरकार बनाने के तौर-तरीकों पर कांग्रेस के साथ चर्चा करेंगे.
  • मलिक ने कहा कि 24 घंटे की छोटी अवधि के कारण कांग्रेस-राकांपा सरकार बनाने के लिए जरूरी चीजों का बंदोबस्त नहीं कर सकीं, जिससे शिवसेना अपने दावे को अंतिम रूप दे पाती.
  • उन्होंने कहा, “राज्यपाल को हस्ताक्षर, नाम, विधानसभा सीटों के नाम और समर्थन करने वाले सभी विधायकों की संख्या के साथ पत्र चाहिए था, जो इतने कम समय में संभव नहीं था. सेना ने अतिरिक्त समय मांगा, लेकिन राज्यपाल ने समय देने से इंकार कर दिया.”
  • इसके पहले रविवार को भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बनाने से इंकार कर दिया था. और सोमवार को शिवसेना कांग्रेस और राकांपा के समर्थन के पत्र प्रस्तुत नहीं कर सकी. हालांकि उसने दोनों दलों से सैद्धांतिक रूप से समर्थन प्राप्त कर लिया. अब एनसीपी को मौका दिया गया है.

ये भी पढ़ें-

राज्यपाल ने NCP को दिया सरकार बनाने का मौका, तो शरद पवार ने की उद्धव से फोन पर बात

जेल में बंद पूर्व केंद्रीय मंत्री की हत्या का आरोपी नक्सली लड़ सकेगा विधानसभा चुनाव

Article 370: केंद्र ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा- 3 गुना ज्यादा खर्च करने पर भी नहीं बदले हालात

Related Posts