बीजेपी संग रिश्ते में पड़ी दरार, जानें शिवसेना-कांग्रेस की दोस्ती का इतिहास, देखें वीडियो

शिवसेना ने दूसरे दलों से गठबंधन पहले भी किए हैं, लेकिन पहली बार क्षेत्रीय दल शिवसेना और एनसीपी के साथ राष्ट्रीय दल कांग्रेस की तिकड़ी महाराष्ट्र में सरकार बनाने की ओर है.
Shiv Sena Congress alliance history, बीजेपी संग रिश्ते में पड़ी दरार, जानें शिवसेना-कांग्रेस की दोस्ती का इतिहास, देखें वीडियो

शिवसेना और बीजेपी की 30 साल पुरानी दोस्ती खत्म हो गई है. महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन सीएम के मुद्दे पर आपसी सहमति ना बनने की वजह से टूट गया. 1989 में बीजेपी और शिवसेना की दोस्ती की नींव पड़ी थी. कई बार ऐसे मौके आए जब दोस्ती पर संकट के बादल मंडराय, मगर हर बार दोस्ती की जीत हुई, लेकिन इस बार बीजेपी-शिवसेना की दोस्ती हार गई.

शिवसेना ने दूसरे दलों से गठबंधन पहले भी किए हैं, लेकिन पहली बार क्षेत्रीय दल शिवसेना और एनसीपी के साथ राष्ट्रीय दल कांग्रेस की तिकड़ी महाराष्ट्र में सरकार बनाने की ओर है. 19 जून 1966 को बाला साहेब ठाकरे ने शिवसेना की स्थापना की थी.

1971 में बालासाहेब ने कांग्रेस (O) से हाथ मिलाया लोकसभा चुनाव के लिए तीन उम्मीदवार खड़े किए थे. हालांकि ये तीनों ही हार गए. शिवसेना ने 1980 में लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस का समर्थन किया. यह बाल ठाकरे की महाराष्ट्र के तत्कालीन सीएम एआर अंतुले से अच्छे रिश्तों की वजह से संभव हो सका.

बीजेपी का लंबा साथ

महाराष्ट्र में शरद पवार ने 1984 में कांग्रेस विरोधी गठबंधन तैयार किया था, लेकिन शिवसेना को उसमें शामिल नहीं किया. ठाकरे ने तब भाजपा से हाथ मिलाया. भाजपा के टिकट पर मनोहर जोशी समेत शिवसेना के दो नेता लोकसभा चुनाव लड़े. 1989 से 2019 तक (2014 को छोड़कर) दोनों दलों ने साथ लड़े.

ये भी पढ़ें-

ठाकरे परिवार से पहले मुख्यमंत्री होंगे उद्धव, पढ़ें बाल ठाकरे से कितनी अलग है सियासत

‘पलट के आऊंगी, शाखों पे खुशबुएं लेकर’, पति की कुर्सी जाने पर बोलीं अमृता फडणवीस

Related Posts