खतरे में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन? फड़नवीस के वार पर उद्धव ठाकरे का पलटवार

बीजेपी के एक वरिष्‍ठ नेता ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा कि मंगलवार को 4 बजे बीजेपी और शिवसेना के बीच मीटिंग होने वाली थी, लेकिन देवेंद्र फड़नवीस के बयान के बाद उद्धव ठाकरे ने इसे कैंसिल कर दिया.
angry Uddhav Thackeray cancels meeting with BJP, खतरे में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन? फड़नवीस के वार पर उद्धव ठाकरे का पलटवार

मुंबई: महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में सबसे बड़े गठबंधन के तौर पर जीत कर आईं बीजेपी-शिवसेना के बीच टकराव थमने का नाम नहीं ले रहा है. ढाई-ढाई साल के लिए सीएम पद वाली मांग पर अड़ी शिवसेना ने बीजेपी को अब कड़े तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. खबर है कि शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने बीजेपी के साथ सरकार बनाने को लेकर होने वाली मीटिंग को कैंसिल कर दिया है.

उद्धव ठाकरे ने बीजेपी के साथ मीटिंग कैंसिल करने वाला यह कदम महाराष्‍ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस के उस ऐलान के बाद उठाया है, जिसमें उन्‍होंने मंगलवार को दोटूक कह दिया, ‘सीएम तो मैं ही रहूंगा और पूरे पांच साल रहूंगा.’

बीजेपी के एक वरिष्‍ठ नेता ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा कि मंगलवार को 4 बजे बीजेपी और शिवसेना के बीच मीटिंग होने वाली थी, लेकिन देवेंद्र फड़नवीस के बयान के बाद उद्धव ठाकरे ने इसे कैंसिल कर दिया.

महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना के साथ होने वाली इस मीटिंग में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और भूपेंद्र यादव शामिल होने वाले थे.

शिवसेना महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने के बाद से लगातार 50-50 फॉर्मूले की बात कर रही है. उसकी डिमांड है कि ढाई साल बीजेपी का सीएम हो और ढाई साल शिवसेना का. बीजेपी उसकी इस मांग को सिरे से खारिज करती आई है, ऐसे में महाराष्‍ट्र की राजनीति में समीकरण पूरी तरह बदलते दिख रहे हैं.

देवेंद्र फड़नवीस यूं साधा निशाना

फडणवीस ने कहा, “शिवसेना के साथ हमारा फॉर्मूला तय है. सरकार मेरे ही नेतृत्व में बनेगी. मैं 5 साल पूरा करूंगा. हमारे पास प्लान A है, प्लान B की कोई जरूरत नहीं है. ‘सामना’ बातचीत बिगाड़ने का काम करता है. अमित शाह कल मुंबई नहीं आ रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि ‘मुख्यमंत्री पद पर 50-50 का कोई फॉर्मूला नहीं दिया गया था. औपचारिक और अनौपचारिक तरीके से बातचीत हो रही है. डिप्टी सीएम पर कोई चर्चा नहीं हुई है. हम कोई ऑप्शन नहीं देख रहे हैं.’

फडणवीस ने कहा कि शिवसेना नेता संजय राउत को हम सीरियस नहीं लेते हैं. 10 लोगों ने अब तक हमें समर्थन दिया है. करीब 15 लोगों के आने की संभावना है.

‘सामना में नहीं पढ़ता मैं’

भाजपा नेता ने कहा, “मैं सामना में नहीं पढ़ता हूं. सामना में क्या आता है, वह मुझे पता लगता है. सामना में जो कुछ लिखा जाता है उस पर हमारी नाराजगी है. इतना खुलेआम एनसीपी-कोंग्रेस भी हमारे खिलाफ नहीं बोलते हैं.”

उन्होंने कहा कि 2024 में बीजेपी ने अकेले शपथविधि ली थी, इस बार ऐसा नहीं होगा. आदित्य ठाकरे को कौन सी पोस्ट देनी है, यह शिवसेना तय करे. मेरी अमित शाह से बात हुई है, उनका कहना था की सेना के साथ सीएम पोस्ट को लेकर ऐसी कोई चर्चा नहीं है.

 

 

Related Posts