2 साल की उम्र में मां ने छोड़ दिया था लावारिस, 38 साल बाद बेटे ने मांगा 1.5 करोड़ रुपए मुआवजा

मेकअप आर्टिस्ट का काम करने वाले श्रीकांत सबनीस ने याचिका में लिखा है कि उसकी मां ने उसे दो साल की उम्र में एक अनजान शहर में जान बूझकर छोड़ दिया था जिसके बाद उसकी जिंदगी नर्क बन गई.

बॉम्बे हाईकोर्ट में एक हैरान कर देने वाला मामला आया है. 40 साल के एक शख्स ने अपनी मां से 1.5 करोड़ रुपए का मुआवजा मांगा है. शख्स ने आरोप लगाया है कि मां ने उसे 38 साल पहले जान बूझकर ट्रेन में छोड़ दिया था. सोमवार को जस्टिस एके मेनन की कोर्ट में इस मामले की सुनवाई होगी.

मेकअप आर्टिस्ट का काम करने वाले श्रीकांत सबनीस ने याचिका में लिखा है कि उसकी मां ने उसे दो साल की उम्र में एक अनजान शहर में जान बूझकर छोड़ दिया था जिसके बाद उसकी जिंदगी नर्क बन गई. बहुत सारी मानसिक प्रताड़ना सहनी पड़ी. सबनीस ने कहा है कि उसकी इस हालत के लिए जिम्मेदार मां आरती महास्कर और सौतेले पिता उदय महास्कर से मुआवजा दिलवाया जाए.

याचिका में लिखा ‘क्यों छोड़ा गया’

श्रीकांत की याचिका के मुताबिक आरती महास्कर की शादी पहले दीपक सबनीस से हुई थी. फरवरी 1979 में श्रीकांत का जन्म हुआ, जब वे पुणे में रहते थे. महत्वाकांक्षी आरती का झुकाव फिल्म इंडस्ट्री की तरफ था और वो मुंबई में काम करना चाहती थीं इसलिए 1981 में बच्चे को लेकर मुंबई चली गईं.

मुंबई पहुंचने पर आरती ने दो साल के बच्चे श्रीकांत को ट्रेन में ही छोड़ दिया. एक रेलवे अधिकारी ने रोते हुए बच्चे को देखा तो उसे बाल गृह भेज दिया. 1986 में श्रीकांत की नानी को कोर्ट से उसकी कस्टडी मिल गई और वह नानी के घर पला-बढ़ा.

मां से हुई फोन पर बात

श्रीकांत सबनीस को 2017 में अपनी मां के बारे में पता चला. नंबर खोजने में लगभग एक साल लग गया और 2018 में पहली बार मां से फोन पर बात हुई. श्रीकांत की याचिका के मुताबिक मां ने बताया कि वह उसी का बेटा है और कठिन परिस्थिति के चलते उसे ट्रेन में छोड़ना पड़ा था.

याचिका में श्रीकांत ने लिखवाया है कि वह हैरान रह गया जब उसकी मां और उसके दूसरे पति ने कहा कि उनके बच्चों के सामने श्रीकांत अपनी सच्चाई न बताए. अपनी मां और सौतेले पिता की इस शर्त ने श्रीकांत को और परेशान कर दिया जो पहले ही जीवन से बुरी तरह निराश था.

श्रीकांत सबनीस ने अब हाईकोर्ट से गुहार लगाई है कि उसकी मां को बेटा घोषित करने का आदेश दे, साथ ही आरती और उदय महास्कर की वजह से उसे हुई परेशानी की भरपाई के लिए मुआवजा दिलवाए.

ये भी पढ़ेंः

महिला यात्री ने कहा ‘मैंने बांध रखा है बम, कर दूंगी विस्फोट,’ बीच रास्ते से लौटी एयर एशिया की फ्लाइट

चेतन भगत ने JNU को लेकर किया ऐसा ट्वीट और हो गए ट्रोल