प्रज्ञा ठाकुर के विरोध में हेमंत करकरे के वेश में विधान परिषद पहुंचे NCP नेता

मालेगांव 2008 के बम विस्फोट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने दावा किया था कि करकरे की मौत उनके शाप की वजह से हुई है.

मुंबई: बुधवार को नेशनल कांग्रेस पार्टी (NCP) के विधायक प्रकाश गजभिये ने सभी का ध्यान अपनी तरफ खींचा. वो महाराष्ट्र विधान परिषद में पूर्व शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के वेश में आए. करकरे 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले में शहीद हुए थे.

हाल ही में गजभिये ने भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा दिवंगत करकरे पर की गई टिप्पणी पर ‘अफसोस जताते’ हुए चुपचाप प्रदर्शन किया. उन्होंने एक प्लेकार्ड लिया हुआ था.

तख्ती पर लिखा था, “यह कहना कि मैं प्रज्ञा के शाप से मारा गया, अंधविश्वास है. मैं देश के लिए शहीद हुआ.”

, प्रज्ञा ठाकुर के विरोध में हेमंत करकरे के वेश में विधान परिषद पहुंचे NCP नेता

गजभिये के इस तरह के प्रदर्शन से हैरान सुरक्षा कर्मियों ने गजभिये को वहां से हटा दिया. हालांकि इसे लेकर दूसरे विधायकों व मीडिया के लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया रही.

मालेगांव 2008 के बम विस्फोट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने महाराष्ट्र के पूर्व आतंकवाद रोधी दस्ते के प्रमुख करकरे पर खुद को यातना देने का आरोप लगाया था और दावा किया था कि करकरे की मौत उनके शाप की वजह से हुई.

प्रज्ञा ने यह आरोप बीते लोकसभा चुनावों के दौरान लगाया था.

, प्रज्ञा ठाकुर के विरोध में हेमंत करकरे के वेश में विधान परिषद पहुंचे NCP नेता

बाद में इसे लेकर विवाद होने पर प्रज्ञा ने सम्मानित आईपीएस अधिकारी पर दिए गए अपने बयान को वापस लिया और माफी मांगी.

एक सहयोगी ने कहा कि नागपुर के रहने वाले गजभिये अक्सर प्रमुख मुद्दों को असामान्य तरीके से उजागर करते हैं.