महाराष्ट्र में सरकार किसकी बनेगी इससे फर्क नहीं पड़ता, विकास जारी रहेगा: नितिन गडकरी

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की संभावनाओं पर गडकरी ने कहा, "क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है. कभी-कभी आपको लगता है कि आप मैच हार रहे हैं, लेकिन परिणाम बिल्कुल उल्टा आता है.
Nitin Gadkari on Maharashtra, महाराष्ट्र में सरकार किसकी बनेगी इससे फर्क नहीं पड़ता, विकास जारी रहेगा: नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को कहा कि महाराष्ट्र में सरकार कोई भी बनाए, विकास की परियोजनाएं और नीतियां पहले की सरकार की तरह ही जारी रहेंगी. गडकरी ने कहा, “मुझे लगता है कि कोई फर्क नहीं पड़ेगा. भारतीय अनुभव में, हमारे लोकतंत्र में, सरकारें बदलती रही हैं, लेकिन परियोजनाओं में कोई बाधा नहीं आती है और वो जारी रहती हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे नहीं पता कि कौन सी सरकार आएगी. कोई भी सरकार चाहे एनसीपी [राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी], कांग्रेस, बीजेपी [भारतीय जनता पार्टी] या शिवसेना वे सकारात्मक नीतियों, विकास की नीतियों और बड़ी परियोजनाओं का समर्थन करेंगे.”

महाराष्ट्र में सरकार के गठन की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने क्रिकेट से राजनीति को जोड़ते हुए जवाब दिया कि कुछ भी हो सकता है. उन्होंने कहा, “क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है. कभी-कभी आपको लगता है कि आप मैच हार रहे हैं, लेकिन परिणाम बिल्कुल उल्टा आता है. इसके अलावा, मैं अभी दिल्ली से आया हूं, मुझे महाराष्ट्र की विस्तृत राजनीति का पता नहीं है.”

एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना के नेता, जो महाराष्ट्र में गैर-बीजेपी सरकार बनाने की कोशिशों में जुटे हैं, ने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (सीएमपी) का मसौदा तैयार किया है, जिसे अब तीन दलों के वरिष्ठ नेताओं को भेजा जाएगा. मालूम हो कि राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने तमाम दलों को सरकार बनाने के लिए न्योता दिया था. हालांकि किसी ने भी सरकार बनाने के लिए दावा पेश नहीं किया. जिसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया.

ये भी पढ़ें: राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका, राहुल गांधी ने अब जेपीसी जांच की उठाई मांग

Related Posts