महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान, कहा- राज्य में नहीं लागू होगा NRC

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर एनआरसी लागू किया गया, तो हिंदुओं और मुसलमानों दोनों के लिए नागरिकता साबित करना मुश्किल होगा. मैं ऐसा नहीं होने दूंगा.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC)पर एक बड़ा ऐलान किया है. सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA)नागरिकता को छीनने के बारे में नहीं है, यह देने के बारे में है. अगर एनआरसी लागू किया गया, तो हिंदुओं और मुसलमानों दोनों के लिए नागरिकता साबित करना मुश्किल होगा. मैं ऐसा नहीं होने दूंगा.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह बात शिवसेना के मुख्यपत्र सामना को दिए गए इंटरव्यू में कहा है. बता दें कि लोकसभा में शिवसेना ने नागरिकता संशोधन बिल पर मोदी सरकार का समर्थन किया था. हालांकि बाद में जब बिल राज्यसभा पहुंचा, तो शिवसेना ने सदन से वाक आउट किया था. नागरिकता संशोधन कानून के लागू हो जाने के बाद भी लगातार इस पर देशभर में विरोध प्रदर्शन चल रहा है.

वहीं, मोदी सरकार सीएए और एनआरसी को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों से बातचीत करने को भी तैयार है. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार सीएए और प्रस्तावित एनआरसी के खिलाफ शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहीं महिला प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए तैयार है.

कानून मंत्री ने ट्वीट कर रहा है कि सरकार शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए तैयार है, यह बातचीत संरचनात्मक रूप में होनी चाहिए. नरेंद्र मोदी की सरकार उनसे संवाद करने और सीएए के खिलाफ उनके सभी संदेह दूर करने के लिए तैयार है.

ये भी पढ़ें – Income Tax Calculator: जानिए आपकी सैलरी में कितना देना होगा टैक्स

Related Posts