पंकजा मुंडे को मिला एकनाथ खडसे का साथ, कहा- उन्हें हरवाने में था पार्टी का हाथ

खडसे ने भी पार्टी के भीतर की फूट का खुलासा करते हुए कहा है कि पार्टी के ही कुछ नेताओं ने उनकी बेटी रोहिणी और पूर्व मंत्री पंकजा मुडे को चुनाव में हराने में सक्रीय भूमिका निभाई है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद चले सियासी ड्रामे के दौरान शांत रहे बीजेपी नेता अब खुल कर अपने विचार सामने रख रहे हैं. इसी के साथ बीजेपी के भीतर की फूट धीरे-धीरे उजागर होती जा रही है. कुछ दिनों पहले पंकजा मुंडे ने अपनी आगे की रणनीति को लेकर आगामी 13 दिसंबर को अपने समर्थकों संग बैठक का ऐलान किया था. अब उन्हें महाराष्ट्र के ही एक वरिष्ठ बीजेपी नेता एकनाथ खडसे का भी साथ मिल गया है.

अब खडसे ने भी पार्टी के भीतर की फूट का खुलासा करते हुए कहा है कि पार्टी के ही कुछ नेताओं ने उनकी बेटी रोहिणी और पूर्व मंत्री पंकजा मुडे को चुनाव में हराने में सक्रीय भूमिका निभाई है. खडसे का यह बयान इस समय इसलिए भी अहम हो जाता है क्योंकि पंकजा मुंडे के तेवर भी पार्टी के खिलाफ दिख रहे हैं.

इसी के साथ खडसे ने कहा कि जिन लोगों ने उनकी बेटी रोहिणी और पंकजा मुडे को हराने में भूमिका निभाई है उनका नाम उन्होंने पार्टी नेतृत्व को दे दिए हैं, साथ ही उन्होंने पार्टी नेतृत्व से उनके खिलाफ सख्त कदम उठाने की भी मांग की है. मालूम हो कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बार खडसे को टिकट नहीं दिया था. हालांकि उनकी बेटी को जलगांव जिले में मुक्ताईनगर सीट से चुनावी मैदान में उतारा था, लेकिन वह चुनाव जीत नहीं सकीं.

ये भी पढ़ें: चिदंबरम के जेल से बाहर आते समय भीड़ में घुस गए कई पॉकेटमार, चुराए दर्जन भर मोबाइल फोन