जिनके घर शीशे के होते हैं, उन्हें दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए: संजय राउत

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले पर कई सारे सवालों के बाद संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा, "हमें मुंबई पुलिस (Mumbai Police) पर भरोसा है. वे अच्छा काम कर रहे हैं. वे सक्षम हैं और उनकी तुलना स्कॉटलैंड यार्ड के साथ की जाती है."

Sanjay-raut
Sanjay-raut

शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने सोमवार को यहां सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा, जिनके घर शीशे के बने होते हैं, उन्हें दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए.

राउत ने मुस्कुराते हुए कहा, “मैं राज कुमार की एक फिल्म देख रहा था और अचानक उनका फेमस डायलॉग याद आ गया कि ‘जिनके घर शीशे के बने होते हैं, उन्हें दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए.’ मुझे राज कुमार पसंद हैं. किसी को उंगली नहीं उठानी चाहिए.”

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

स्कॉटलैंड यार्ड से की मुंबई पुलिस की तुलना

उनकी बात का मतलब प्रसिद्ध अभिनेता राज कुमार (Raj Kumar) की ब्लॉकबस्टर म्यूजिकल फिल्म ‘वक्त’ (1965) की उस डायलॉग से था, जिसमें कहा गया था कि जिनके अपने घर शीशे के हों, वो दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते.

स्कॉटलैंड यार्ड से मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की तुलना करते हुए राउत ने कहा, “जब पुलिस की जांच चल रही है तो इस मामले पर कोई भी टिप्पणी नहीं कर सकता है.”

“हमें मुंबई पुलिस पर भरोसा है”

सुशांत मामले पर कई सारे सवालों के बाद उन्होंने कहा, “हमें मुंबई पुलिस पर भरोसा है. वे अच्छा काम कर रहे हैं. वे सक्षम हैं और उनकी तुलना स्कॉटलैंड यार्ड के साथ की जाती है. जांच स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से जारी रहनी चाहिए.” उनकी टिप्पणी के कुछ ही समय बाद मुंबई पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह (Param Bir Singh) ने मामले में किसी भी प्रमुख राजनीतिक व्यक्तित्व (पॉलिटिकल पर्सनालिटी) की भागीदारी से इनकार किया है. (IANS)

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts