राउत ने कसा तंज, कहा- विरोधी दल का नेता चुने जाने पर फडणवीस को हार्दिक बधाई

राउत ने फडणवीस के चुनाव के दौरान दिए उस बयान को लेकर निशाना साधा, जिसमें वह कहते थे कि राज्य में विपक्ष पूरी तरह गायब है.
Sanjay Raut tweets, राउत ने कसा तंज, कहा- विरोधी दल का नेता चुने जाने पर फडणवीस को हार्दिक बधाई

महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद अब पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय राउत भाजपा नेताओं की चुटकी ले रहे हैं. उन्होंने फडणवीस को विरोधी दल का नेता बनने की बधाई दी.

संजय राउत ने गुरुवार की देर शाम एक ट्वीट कर देवेंद्र फडणवीस के चुनाव के दौरान दिए उस बयान को लेकर निशाना साधा, जिसमें वह कहते थे कि राज्य में विपक्ष पूरी तरह गायब है.

संजय राउत ने ट्वीट कर कहा, “महाराष्ट्र में विरोधी पक्ष ही नहीं रहेगा, यह दावा करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को विरोधी दल का नेता चुने जाने पर हार्दिक बधाई..!”


दूसरी तरफ, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे को भाजपा के राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव ने अलग अंदाज में बधाई दी. उन्होंने उद्धव ठाकरे को ‘गोडसे भक्त’ बताकर बधाई दी.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने ट्वीट कर कहा, “महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने पर गोडसे भक्त उद्धव ठाकरे को बधाई. आप और आपके विधायकों ने अपनी वफादारी सल्तनत के आगे गिरवी रख दी. यह पूरा आत्मसमर्पण सामना को सोनियानामा करार देता है. वे तीसरे दर्जे के आपके अखबार के संपादकीय को बर्दाश्त नहीं करेंगे.”


बता दें कि उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर गुरुवार को शपथ ग्रहण की. उद्धव ने शिवाजी महाराज को नमन करते हुए मराठी भाषा में शपथ ली. वह ठाकरे परिवार से पहले मुख्यमंत्री हैं.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शाम 6.40 बजे उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. उद्धव के बाद कैबिनेट के अन्य मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. कार्यक्रम के दौरान उद्धव ने भगवा रंग का कुर्ता पहना हुआ था, जो कि उनकी पार्टी का रंग भी है.

विनम्रता दिखाते हुए औपचारिकताओं को पूरा करने के तुरंत बाद, ठाकरे ने मंच के सामने कदम रखा और सम्मान के लिए महाराष्ट्र के लोगों का आभार व्यक्त करते हुए घुटने के बल बैठकर जनता की ओर नतमस्तक हुए.

उनके अलावा शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस के दो-दो विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली. इनमें शिवसेना के एकनाथ शिंदे व सुभाष देसाई, राकांपा के जयंत पाटिल व छगन भुजबल और कांग्रेस के बालासाहेब थोरात व नितिन राउत शामिल हैं.

शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की गठबंधन सरकार के न्यूनतम साझा कार्यक्रम (कॉमन मिनिमम प्रोग्राम) में किसान, रोजगार, शिक्षा, शहरी विकास, पर्यटन, कला, संस्कृति और महिलाओं के मुद्दे पर काम करने का वादा किया गया है.

ये भी पढ़ें-

शपथ ग्रहण के बाद परिवार सहित सिद्धिविनायक पहुंचे उद्धव ठाकरे

उद्धव सरकार की पहली कैबिनेट बैठक, इन मुद्दों पर लिया जा सकता है फैसला

CM ऑफ महाराष्ट्र: सच हुई बाला साहेब की 21 साल पुरानी भविष्यवाणी

Related Posts