Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला
Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला

शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि सिर्फ महाराष्ट्र में लगभग 16 हजार किसानों ने आत्महत्या की है.
Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार महाराष्ट्र के नांदेड़ में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से पूछा कि वो बताएं कि मंदी के दौरान कितने कारखाने बंद हुए हैं. पवार ने ‘मराठी मानूस’ का मुद्दा उठाते हुए कहा कि टेक्सटाइल की राजधानी मुंबई से ही मराठी मानूस को दरकिनार किया जा रहा है.

‘किसान सरकार से नाराज थे’
पवार ने दावा किया कि राज्य सरकार ने प्याज नासिक की बाजार में नहीं बिकने दी क्योंकि पीएम मोदी गुरुवार को वहां पर रैली करने वाले थे. उन्होंने कहा, “सरकार को इस बात का डर था कि लोग पीएम मोदी के काफिले पर प्याज से हमला कर सकते हैं. क्योंकि पाकिस्तान से प्याज आयात किए जाने के फैसले से किसान नाराज थे.”

पवार ने हिंगोली में एक सभा में कहा कि मुंबई में 120 टेक्सटाइल मिलें थी लेकिन आज 10 ही काम कर रहीं हैं. मुंबई कभी दुनिया का टेक्सटाइल हब हुआ करता था. यहां 120 टेक्सटाइल मिलें थीं, जिसमें 4 लाख लोग काम करते थे. अब इन मिलों की जगह 30-40 मंजिला इमारतें बन गईं हैं. जहां हमें मराठी मानूस देखने को नहीं मिलते. वो सारी प्रॉपर्टी अब दूसरों के हाथों में चली गई हैं.

‘किसानों की कर्जमाफी नहीं होती’
एनसीपी प्रमुख ने कहा, “सिर्फ महाराष्ट्र में लगभग 16 हजार किसानों ने आत्महत्या की है. कर्ज बढ़ना, मौसम की मार और उत्पादों पर कम दाम मिलना ये सब किसानों की आत्महत्या की वजहें हैं. लेकिन सत्तासीन पार्टी को किसानों से कुछ लेना देना नहीं हैं. वो कहते हैं कि वो कंपनियों का कर्जा माफ कर देंगे लेकिन किसानों का नहीं क्योंकि कंपनियां रोजगार देती हैं. लेकिन जो हमारा पेट भरते हैं उनकी कर्जमाफी नहीं होती.”

गौरतलब है कि गुरुवार को ही पीएम मोदी ने नासिक में शरद पवार के लिए कहा था कि ‘मैं कांग्रेस के बारे में समझ सकता हूं कि वो एक कन्फ्यूज्ड पार्टी है लेकिन पवार जैसे अनुभवी नेता वोट के लिए गलतबयानी करते हैं तो बुरा लगता है. वो(पवार) पड़ोसी देशों को पसंद करते हैं लेकिन सबको पता है कि आतंक की फैक्टरी कहां है?’

ये भी पढ़ें-

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कंपनियों को दी बड़ी राहत, कॉरपोरेट टैक्‍स में की कटौती, झूमा शेयर बाजार

मुंबई में कई जगहों से मिलीं गैस लीक होने की शिकायतें, मचा हड़कंप, अलर्ट पर BMC

VIDEO: कंडोम बनाने वाली कंपनी ने ईजाद की नई तकनीक, अकेला इंसान नहीं खोल सकेगा पैकेट

Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला
Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला

Related Posts

Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला
Sharad Pawar, शरद पवार का दावा- डरी हुई थी सरकार, PM मोदी के काफिले पर किसान प्याज से कर सकते थे हमला