बीजेपी से साथ छूटने को उद्धव ठाकरे ने बताया विश्वासघात, हिंदुत्व के सवाल पर किया पलटवार

कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन के बाद हिंदुत्व को लेकर सवालों से जूझ रहे उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी ने उनसे विश्वासघात किया. यह कैसा हिंदुत्व है?
Uddhaw Thackeray statements on BJP, बीजेपी से साथ छूटने को उद्धव ठाकरे ने बताया विश्वासघात, हिंदुत्व के सवाल पर किया पलटवार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्व के मुद्दे पर बीजेपी पर पलटवार किया है. कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन के बाद हिंदुत्व को लेकर सवालों से जूझ रहे उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी ने उनसे विश्वासघात किया. यह कैसा हिंदुत्व है?

शिवसेना के मुखपत्र सामना के लिए संपादक संजय राउत को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने बीजेपी का साथ छूटने पर दुख भी जाहिर किया. पढ़ें- इंटरव्यू का वह खास हिस्सा जिसमें उन्होंने हिंदुत्व और बीजेपी दोनों को लेकर स्पष्ट जवाब दिया है.

सवाल – आप अब मन से भाजपा के साथ नहीं हैं अथवा पूरी तरह टूट गए हैं… आपने अपनी दिशा ही अलग कर ली है क्या ?

जवाब – नहीं. मैं ईमानदारी से कहता हूं कि यह कोई खेल नहीं है. 25-30 वर्ष हम भारतीय जनता पार्टी के साथ थे और यह केवल एक राजनीतिक मजबूरी के रूप में नहीं था. उसमें जैसे प्रमोद जी थे, गोपीनाथ जी थे… इसके अलावा अटल जी, आडवाणी जी, नितिन जी भी… उनके साथ हमारा एक पारिवारिक रिश्ता अथवा ऋणानुबंध निर्माण हो गया था… और ये टूटते समय पीड़ा तो हुई ही… निश्चित ही हुई… मैं खुश हूं क्या? मैं नाराज हूं क्या? इस सबसे ज्यादा मुझे इन बातों से दुख अधिक हुआ है. आपने किसे फंसाया है? जो आदमी आपके पीछे पहाड़ की तरह खड़ा रहा… संकट के समय पहाड़ जैसा खड़ा रहा… हिंदुत्व पर ही सभी हमले थे, खतरे थे, उन्हें उन्होंने अपने पर ले लिया… उन शिवसेना प्रमुख की पार्टी के साथ आप एकत्र नहीं रह सकते…?

सवाल – विश्वासघात किया…?

जवाब – हां. विश्वासघात किया… ऐसा ही अब कहना होगा. कट्टर हिंदुत्ववादी पार्टी को तुमने दूर धकेल दिया और नहीं चाहिए उस पार्टी को तुम गोद में लेकर बैठ गए. ये कैसा हिंदुत्व है?

इसी इंटरव्यू के पहले हिस्से में उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला था. ठाकरे ने कहा था कि लोकसभा चुनाव से पहले जो वादा हुआ अगर बीजेपी वह पूरा कर देती तो क्या जाता और मैंने उनसे चांद-तारे मांगे थे क्या?

ये भी पढ़ें –

सोनिया के आगे किया सरेंडर? CM उद्धव बोले- कांग्रेस ने सर्व-धर्म-समभाव नहीं छोड़ा, मैंने हिंदुत्व

उद्धव ठाकरे का बीजेपी पर वार, बोले- आसमान के चांद-तारे मांगे थे क्या?

Related Posts