Exclusive Interview: ‘मुंबई में गड्ढे भरनेवालों पर एक्शन की कंट्रोवर्सी’ पर BMC कमिश्नर ने दिया ये जवाब

‘मुंबई में लोगों को कई बार ये तक नहीं पता होता कि वो कौनसे वार्ड में रहते हैं और कौन सा गढ्डा BMC के तहत आता है और कौन सा नहीं.’

हाल ही में ट्विटर पर BMC को काफी बैकलैश झेलना पड़ा था, जब BMC ने मुंबईकरों से अनुरोध किया था कि वो सड़कों पर कानून अपने हाथ में ना लें और सड़कों के गड्ढे खुद ना भरे. BMC ने भी कहा था कि ऐसा करने पर मुंबई करो पर कार्रवाई होगी लेकिन BMC की इस अपील से मुंबईकर और नाराज हुए और उन्होंने टि्वटर पर जमकर BMC को खरी खोटी सुनाई जिसके बाद एक बार फिर BMC अपनी सफाई में सामने आई और ट्वीट के नागरिकों से कहा कि जिन्हें गड्ढे भरने है वो BMC के साथ मिलकर ये काम करें.

BMC कमिश्नर प्रवीण परदेसी ने TV9 भारतवर्ष से खास बातचित में कहा, ‘वो एक स्ट्रॉन्ग ट्वीट था जिस पर हमने लिखा था कि हम गड्ढे भरने वालों पर कार्रवाई करेंगे. जिसको लेकर कंट्रोवर्सी हुई थी, लेकिन मैं साफ करना चाहूंगा हम कारवाई नहीं करेंगे उन्हें गाइड करेंगे.’

‘बहुत से लोग ऐसा काम खुद करते हैं. हम अब उनकी मदद लेंगे और मिलकर गड्ढे भरने का काम करेंगे.’

‘मुंबई में लोगों को कई बार ये तक नहीं पता होता कि वो कौनसे वार्ड में रहते हैं और कौन सा गढ्डा BMC के तहत आता है और कौन सा नहीं.’

‘लोगों को वार्ड वाइज जानकारी मिले इसके लिए अब हमने गूगल के साथ एक मीटिंग की है. अब जल्द ही गूगल मैप के जरिए लोगों को जगह के साथ-साथ वार्ड की जानकारी और वार्ड ऑफिसर की जानकारी भी मिलेगी.’

‘मरीन ड्राइव पर रेलिंग को लेकर मुंबई पुलिस और BMC दोनों ने विचार किया है और विदेशो में हुए ऐक्सिडेंट की घटना को देखते हुए सुरक्षा के लिहाज से हमने ये डिसीजन लिया है.’

ये भी पढ़ें- ‘हमारे मंदिर को तोड़ा गया, यह साबित करिये वहां 100-200 साल नमाज पढ़ी गई’