दशहरा रैली में उद्धव ठाकरे ने इस बात को लेकर शिवसैनिकों से मांगी माफी

बिना नाम लिए उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसैनिकों को धोखा देने की हिम्मत किसी को नहीं करनी चाहिए.

महाराष्ट्र विधानसभा के चुनावी माहौल में हुई शिवसेना की दशहरा रैली शिवाजी पार्क में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों से माफी मांग ली. गठबंधन में कम सीटें मिलने पर पहली बार उद्धव ठाकरे ने कहा, ”लोग कह रहे हैं कि शिवसेना झुकने के लिए मजबूर की गई. शिवसेना किसी के सामने झुकती नहीं है. समझौता, गठबंधन का एक अंग है.”

”हमने महाराष्ट्र के लिए समझौता किया है. वे सीटें जो गठबंधन की वजह से छूट गई हैं, जहां शिवसेना कार्यकर्ताओं को संतोष करना पड़ा है, उसके लिए मैं व्यक्तिगत तौर पर शिवसैनिकों से माफी मांगता हूं.”

शिवसैनिकों से भगवा लहराने की अपील

दशहरा रैली में शिवसेना ने जबरदस्त शक्ति प्रदर्शन किया. शिवाजी पार्क पर आयोजित रैली में राज्यभर से बड़ी संख्या में शिवसैनिक आए. इस मौके पर उद्धव ठाकरे ने दिवंगत बालासाहेब ठाकरे को याद करते हुए शिवसैनिकों से एक बार फिर विधानसभा पर भगवा लहराने की अपील की. ठाकरे ने कहा कि आज पहली विजयादशमी है और 24 तारीख को चुनाव परिणाम निकलने पर दूसरी होगी.

124 सीटों पर चुनाव लड़ रही शिवसेना

बता दें कि शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, वहीं बीजेपी के 164 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. 288 सीटों पर होने वाले इस गठबंधन में अन्य पार्टियों को भी शामिल किया गया है.

‘हमारा गठबंधन वास्तविक है’

ठाकरे ने बीजेपी के साथ गठबंधन को लेकर कहा, ”हमारा गठबंधन वास्तविक है, जबकि एसपी-बीएसपी ने केवल सत्ता के लालच में गठबंधन किया इसलिए लोगों ने उसे खारिज कर दिया.” उन्होंने बीजेपी को इशारे-इशारों में नसीहत भी दे डाली. बिना नाम लिए उन्होंने कहा कि शिवसैनिकों को धोखा देने की हिम्मत किसी को नहीं करनी चाहिए.

‘राम मंदिर बनाने की मांग पर अडिग’

उद्धव ने राम मंदिर का मुद्दा छेड़ते हुए मोदी सरकार से अपील की कि अगर विशेष कानून बनाना पड़े, तो बनाएं, लेकिन राम मंदिर का निर्माण करे. हम इस मांग पर कायम हैं कि अयोध्या में भगवान राम का भव्य व विशाल मंदिर बने. सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर बनाने का फैसला दिया, तो ठीक है, वरना विशेष कानून बनाकर राम मंदिर बनाने की मांग पर शिवसेना अडिग है.

ये भी पढ़ें-

मैंने सत्ता के लिए ही गठबंधन किया, शिवसैनिक को बनाऊंगा मुख्यमंत्री, ये मेरा वचन है: उद्धव ठाकरे

“अब तक लोकसभा हार के सदमे में है कांग्रेस, शायद राज्‍यों का चुनाव भी ना जीत सके”