उद्धव ठाकरे का बीजेपी पर वार, बोले- आसमान के चांद-तारे मांगे थे क्या?

इससे पहले सामना को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने नागरिकता कानून को लेकर बड़ी बात कही थी. उन्होंने कहा था कि यह कानून नागरिकता छीनने के बारे में नहीं है.
Uddhav Thackeray Slam BJP, उद्धव ठाकरे का बीजेपी पर वार, बोले- आसमान के चांद-तारे मांगे थे क्या?

महाराष्ट्र में अपनी 25 साल पुरानी साथी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का साथ छोड़ कांग्रेस और नेशनल कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के साथ मिलकर सरकार बनाने वाली शिवसेना लगातार बीजेपी पर हमलावर है. अपने मुखपत्र सामना के जरिए शिवसेना, बीजेपी को निशाने पर लिए हुए है.

वहीं इसी बीच सामना को दिए इंटरव्यू में राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला. ठाकरे ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले जो वादा हुआ अगर बीजेपी वह पूरा कर देती तो क्या जाता और मैंने उनसे चांद-तारे मांगे थे क्या?

ठाकरे से जब पूछा गया कि बीजेपी द्वारा दिए गए झटके से उबर पाए हैं क्या? बीजेपी पर निशाना साधते हुए उद्धव ठाकरे ने जवाब दिया, “मुझे कोई झटका नहीं लगा है और न ही लगेगा. इसका कारण ये है कि मैं शिवसेना प्रमुख का पुत्र हूं. झटका देने का प्रयास कइयों ने करके देखा है, लेकिन किसी को भी वो जमा नहीं. परंतु शिवसेना प्रमुख ने जो झटका कइयों को दिया है, उससे वे लोग अभी भी उबरते हुए नहीं दिखाई दे रहे.”

इसके बाद ठाकरे ने कहा, “झटके कई प्रकार के होते हैं. लोगों को ये समझ आया है कि नहीं. पसंद आया है कि नहीं, ये महत्वपूर्ण हिस्सा है. मैंने कई बार इस मामले पर बोला है और जनता भी इसे पूरी तरह से समझी है. वचन देने और निभाने में फर्क है. वचन भंग होने पर स्वाभाविक ही है कि दुख है, गुस्सा है. उन्होंने किसके लिए ये किया? क्यों वचन दिया और क्यों मुकर गए? फिर उनके द्वारा इस तरह से वचन से मुकरने के बाद मेरे पास दूसरा विकल्प नहीं था.”

वहीं जब ठाकरे से पूछा गया कि 25 साल पुरानी आपकी साथी रही बीजेपी क्या इस झटके से उबरी है या नहीं. इसका जवाब देते हुए सूबे के मुख्यमंत्री ने कहा, “मुझे पता नहीं, लेकिन मुझे उनसे ऐसा कहना है कि उन्होंने वचन निभाया होता तो क्या हुआ होता. ऐसा मैंने क्या बड़ा मांगा था? आसमान के चांद-तारे मांगे थे क्या? लोकसभा चुनाव से पहले जो हमारे बीच तय हुआ था उतना ही मांगा था.”

 

ये भी पढ़ें-   महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान, कहा- राज्य में नहीं लागू होगा NRC

क्रूरता की हदें पार, जमीन पर कब्जे का विरोध करने पर TMC नेता ने दो बहनों के पैर बांधकर 30 फीट तक घसीटा

Related Posts