उद्धव ठाकरे को उम्मीद BJP निभाएगी वादा, नहीं तो शिवसेना अकेले ही लड़ेगी चुनाव

शिवसेना अध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा चुनावों से पहले, अमित शाह ने वादा किया था कि विधानसभा चुनावों के लिए दोनों दलों के बीच आधी-आधी सीटों का बंटवारा होगा और अब ठाकरे को उम्मीद है कि बीजेपी उस वादे को निभाएगी.

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के निवास पर 15 सितंबर, 2019 को एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें पार्टी के सभी सांसदों और विधायकों के साथ वरिष्ठ और स्थानीय नेता भी उपस्थित हुए. उद्धव ठाकरे ने बैठक में कहा कि बीजेपी के साथ गठबंधन विफल होने पर सभी पार्टी सदस्य अकेले ही 288 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहें.

कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए मूल रूप से प्रस्तावित सीट-बंटवारे के फॉर्मूले से सहमत नहीं होगी. शिवसेना सभी 288 विधानसभा सीटों के लिए टिकट के उम्मीदवारों के इंटरव्यू आयोजित कर रही है और इसी के चलते पार्टी ने रविवार को अपनी चुनावी तैयारियों की समीक्षा की.

शिवसेना अध्यक्ष ने आगे कहा कि लोकसभा चुनावों से पहले, बीजेपी के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने वादा किया था कि विधानसभा चुनावों के लिए दोनों दलों के बीच आधी-आधी सीटों का बंटवारा होगा और अब ठाकरे को उम्मीद है कि बीजेपी उस वादे को निभाएगी.

आगामी चुनावों के लिए शिवसेना आधी-आधी सीटों के बंटवारे के फॉर्मूले पर जोर दे रही है, लेकिन बीजेपी अन्य दलों के नेताओं को समायोजित करने के लिए अधिक सीटों पर नजर रख रही है, जो हाल ही में पार्टी में शामिल हुए हैं. हालांकि, युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे, जो वर्तमान में अपनी जन आशिर्वाद यात्रा कर रहे हैं, ने कहा कि सेना फरवरी में महागठबंधन की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा घोषित आधी-आधी सीटों के फॉर्मूले पर ही टिकी रहेगी.

ये भी पढ़ें: अगर जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर, बोले मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई