उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ
उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ

‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ

राजनैतिक रूप से गहरे मतभेदों के बावजूद, उद्धव का छोटे भाई को लेकर दिया गया यह बयान बेहद अहम माना जा रहा है.
उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ

IL&FS से जुड़े एक मामले में महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे को बड़े भाई का साथ मिला है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा.’ राजनैतिक रूप से गहरे मतभेदों के बावजूद, उद्धव का छोटे भाई को लेकर दिया गया यह बयान बेहद अहम माना जा रहा है.

उद्धव ने दिया साथ, समर्थन में लगे पोस्‍टर

राज ठाकरे को नोटिस के बाद मनसे समर्थक अब सक्रिय हो गए हैं. उन्होंने शहर में अलग-अलग जगहों पर राज ठाकरे के समर्थन में पोस्टर लगाए हैं. दादर स्थित राज ठाकरे के घर ‘कृष्ण कुंज’ के बाहर भी ऐसे ही पोस्टर्स देखने को मिल रहे हैं.

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी और उनके व्यापारिक साझेदार राज ठाकरे को IL&FS से जुड़े एक मामले की जांच के लिए समन भेजा है. MNS अध्यक्ष राज ठाकरे को 22 अगस्‍त को ED हेडक्‍वार्टर में पेश होने को कहा गया है.

ED जोशी के मालिकाना हक वाले कोहिनूर CTNL में 850 करोड़ रुपये से अधिक के IL&FS के ऋण और निवेश की कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है. कोहिनूर CTNL एक रियलिटी क्षेत्र की कंपनी है जो पश्चिम दादर में कोहिनूर स्क्वॉयर टॉवर का निर्माण कर रही है.

जोशी की कंपनी और उसके निवेश पहले से ही सवालों के घेरे में हैं क्योंकि यह लगभग 135 करोड़ रुपये के IL&FS के प्रमुख डिफॉल्टरों में से है. उन्मेश जोशी, ठाकरे और उनके सहयोगी द्वारा यह एक दशक पहले लॉन्च की गई थी. उनकी 421 करोड़ रुपये में विवादास्पद कोहिनूर मिल्स नंबर-3 खरीदने की योजना थी.

IL&FS ने 2008 में अचानक कथित तौर पर इस सौदे से हाथ पीछे खींच लिए और महज 90 करोड़ रुपये में अपने शेयरों को बेच दिया. इससे बड़ा नुकसान हुआ और बाद में ठाकरे भी अपने शेयर बेचने के बाद इससे बाहर निकल गए. जोशी का कोहिनूर समूह उनके पिता और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी द्वारा स्थापित किया गया था. यह पहले कोहिनूर CTNL को नियंत्रित करता था.

ये भी पढ़ें

जिस MNS प्रमुख को दुनिया राज ठाकरे के नाम से जानती है, क्या उसका असली नाम जानते हैं आप?

राज ठाकरे को ED का नोटिस आया, FB पर पोस्‍ट लिख MNS कार्यकर्ता ने खुद को लगा ली आग

उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ
उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ

Related Posts

उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ
उद्धव, ‘ED के केस में कुछ नहीं निकलेगा’, राज ठाकरे को मिला बड़े भाई उद्धव का साथ