भतीजे ने दिया धोखा तो शालिनी पाटिल ने शरद पवार को कहा- जैसे को तैसा

शरद पवार की वजह से उस वक्‍त के दिग्‍गज कांग्रेस नेता वसंत राव ठगे से देखते रह गए थे. शालिनी पाटिल ने इसी वजह से शरद पवार पर कटाक्ष किया है.
Maharashtra coup, भतीजे ने दिया धोखा तो शालिनी पाटिल ने शरद पवार को कहा- जैसे को तैसा

पुणे: वसंत राव पाटिल, महाराष्‍ट्र में कांग्रेस के दिग्‍गज नेता थे. 1978 में वसंत दादा पाटिल को झटका देते हुए शरद पवार 37 साल की उम्र में महाराष्‍ट्र के सीएम बन गए थे. राजनीतिक दांव-पेंच में माहिर शरद पवार के इस उलटफेर ने उस वक्‍त पूरे देश की सियासत में हलचल मचा दी थी. वसंत दादा पाटिल तो अब इस दुनिया में नहीं रहे, लेकिन उनकी पत्‍नी हैं, जिनका नाम है- शालिनी पाटिल.

महाराष्‍ट्र के मौजूदा घटनाक्रम पर चुटकी लेते हुए शालिनी पाटिल ने कहा- जैसे को तैसा. जाहिर है निशाने पर शरद पवार हैं. उन्‍होंने कहा, ‘शरद पवार ने जिस तरह का बर्ताव वसंत राव के साथ किया था, उनके साथ वैसा ही बर्ताव होना ही चाहिए था, जो अजित पवार ने बीजेपी के साथ जाकर किया है.’

शनिवार 23 नवंबर 2019 को अजित पवार ने एनसीपी के विधायकों के साथ मिलकर बीजेपी की सरकार बनवा दी. शुक्रवार रात तक अजित पवार कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना के साथ सरकार गठन की बैठकों में हिस्‍सा ले रहे थे. अजित पवार के समर्थन पत्र से देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार सुबह जब शपथ ली तो देशभर की राजनीति में हलचल मच गई. एक दिन पहले तक जिस पार्टी के दूर-दूर तक सरकार बनाने के आसार नहीं दिख रहे थे, उसने एकदम से सरकार बना ली.

बहरहाल, लौटते शालिनी पाटिल के आरोप पर. 1978 में महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव हुए थे. तब कांग्रेस (एस) को 69 और कांग्रेस (आई) को 65 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि जनता पार्टी ने 99 सीटों पर विजय हासिल हुई थी. कांग्रेस के दोनों गुट उस वक्‍त साथ आने की तैयारी ही कर रहे थे कि शरद पवार ने उलटफेर करते हुए 38 कांग्रेस विधायकों के साथ जनता पार्टी के समर्थन से सरकार बना ली और खुद सीएम बन बैठे.

शरद पवार की वजह से उस वक्‍त के दिग्‍गज कांग्रेस नेता वसंत राव ठगे से देखते रह गए थे. शालिनी पाटिल ने इसी वजह से शरद पवार पर कटाक्ष किया है.

Related Posts