मौत की घाटी का मंजर, हवाएं उगलती हैं आग

california-california death valley-eastern california death valley-hottest place in the world-world hottest place-america death valley, मौत की घाटी का मंजर, हवाएं उगलती हैं आग

डेथ वैली

यहां का ताप इतना है कि इसे बर्दाश्त करना मुश्किल है. इस इलाके की हवाएं आग उगलती हैं और जमीन तवे की तरह लाल रहती है. हम बात कर रहे हैं कैलिफोर्निया स्थित धरती की सबसे गरम जगह के बारे में, जिसे डेथ वैली के नाम से जाना जाता है. आइये जानते हैं मोजेवे रेगिस्तान में स्थित इस मौत की घाटी के झुलसा देने वाले माहौल के बारे में…

इसलिए है बदनाम

  • कैलिफोर्निया और नेवादा की बॉर्डर पर स्थित इस डेथ वैली का टेम्परेचर अक्सर 49 डिग्री से लेकर 54 डिग्री सेल्सियस तक रहता है.
  • 10 जुलाई 1913 को यहां दुनिया का सबसे ज्यादा तापमान 56.7 डिग्री सेंटीग्रेड दर्ज किया गया.
  • साल 2001 में 154 दिन तक यहां का तापमान लगातार 38 डिग्री सेंटीग्रेड रहा.
  • यहां बेहद कम बारिश होती है. रिपोर्ट्स की मानें तो इस इलाके में 38 मिलीमीटर से ऊपर कभी बारिश नहीं हुई.

यूं पड़ा नाम

सोने की खदानों की खोज में 19वीं शताब्दी के शुरुआती सालों में जब लोग इस इलाके से गुजरते हैं तो उनकी मौत हो जाती थी. ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ तभी से इसे मौत की घाटी के नाम से जाना जाने लगा. 1850 के दौरान यहां से सोने और चांदी निकाले जाते थे.

…और कुछ तमगे भी

1870 के आसपास आयी एक रिपोर्ट की मानें तो यहां से सैकड़ों इंसान और जानवरों की हड्डियां बरामद हुई थीं. डेथ वैली यूएस का तीसरा सबसे बड़ा पार्क है. यह तकरीबन 33 लाख एकड़ के एरिया में फैला हुआ है. 1933 में इसे अमेरिका का राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया गया.

Related Posts