इस्‍लाम, मुसलमान और जेहाद का उन्‍माद, लादेन के वंशज की तरह UN में बोले इमरान

इमरान खान की मूर्खता देखिए कि एक तरफ तो वह अमेरिका और यूएन से मदद की गुहार लगा रहे हैं और दूसरी ओर उन्‍हीं पर इस्‍लाम और मुसलमान की अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं.

नई दिल्‍ली: यूनाइटेड नेशंस जरनल एसेंबली के 74वें सेशन में शुक्रवार को पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भाषण दिया. जम्‍मू-कश्‍मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से आपा खो बैठे इमरान खान ने पाकिस्‍तान के स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर पीओके में कहा था कि वह इस बार यूएन महासभा में कश्‍मीर मुद्दा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. इतना ही नहीं, इमरान खान ने यह भी कहा कि अब वह कश्‍मीर के एम्‍बेसडर के तौर पर काम करेंगे. कश्‍मीर नाम की बीमारी से ग्रस्‍त इमरान खान ने शुक्रवार को किया भी कुछ ऐसा ही.

यूं तो पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री पहले भी यूएन में कश्‍मीर मसला उठाते रहे हैं, लेकिन जिस तरह इमरान खान ने भाषण दिया, उससे यह साबित हो गया कि पाकिस्‍तान का मीडिया और विपक्षी दल उन्‍हें यूं ही तालिबान खान नहीं कहते हैं.

यूएन महासभा जैसे वैश्विक मंच पर दुनिया का प्रत्‍येक राष्‍ट्र अपने मसले रखता रहा है, लेकिन परमाण युद्ध, जेहाद, इस्‍लाम, मुसलमान और सिर्फ मुसलमान, दुनिया का मुसलमान, पाकिस्‍तान का मुसलमान, भारत का मुसलमान, कश्‍मीर का मुसलमान जैसे जुमलों से भरा भाषण शायद ही किसी नेता पहले दिया हो.

इमरान खान का भाषण सुनते वक्‍त लगा मानो उनके भीतर ओसामा बिन लादेन, अबु बक्र अल बगदादी, हकीमुल्‍ला महसूद जैसे आतंकियों की आत्‍मा प्रवेश कर गई है. तालिबान खान को यह समझ ही नहीं आया कि यूएन का मंच जेहाद का ऐलान करने के लिए नहीं होता है, वह कोई हाफिज सईद की रैली का स्‍थल नहीं है, जहां पर इस्‍लाम और कश्‍मीर के नाम पर उन्‍माद फैलाया जाए. अब बेचारे इमरान खान करें भी तो क्‍या करें? बुशरा बीबी मतलब उनकी तीसरी पत्‍नी ने जो उन्‍हें बताया वह उन्‍होंने बोल दिया.

बुशरा बीबी ने कहा कि डोनाल्‍ड ट्रंप के साथ मीटिंग में माला जपना तो बेचारे इमरान खान प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में ऐसा ही करते दिखे. बुशरा बीबी ने कहा कि नंगे पैर सऊदी अरब जाओ तो तालिबान खान ने ऐसा ही किया.

तालिबान खान के भाषण से स्‍पष्‍ट हो गया कि वह यूएन में कश्‍मीर मसला कम उठा रहे थे बल्कि पूरी दुनिया को यूएन के मंच से कोस ज्‍यादा रहे थे. उन्‍होंने 9/11 का जिक्र करते हुए कहा कि 9/11 के बाद इस्लाम की तुलना आतंकवाद से होने लगी. इमरान खान ने कहा कि इसके बाद कई थ्योरीज आईं, जिनमें कहा गया कि मुस्लिम ऐसे हमले इसलिए करते हैं, क्योंकि वे हूरों को पाना चाहते हैं.

इमरान खान ने कहा कि सबसे ज्यादा तमिल टाइगर्स ने सुसाइड अटैक किए और वे हिंदू थे. मतलब इमरान खान ने पूरी दुनिया के सामने हिंदू-मुसलमान करके बता दिया कि वह तालिबान की भाषा में ही बात करते हैं, एक लीडर की भाषा और मुद्दों की समझ क्‍या होती है उन्‍हें इसका पता ही नहीं.

इमरान खान यूएन में भाषण देने से पहले जिस अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप से भीख मांग रहे थे, सबसे ज्‍यादा इस्‍लामिक आतंकवाद शब्‍द का इस्‍तेमाल वही ट्रंप करते हैं. भारत या पीएम नरेंद्र मोदी ने कभी इस्‍लामिक आतंकवाद की बात नहीं की, हम तो सिर्फ आतंकवाद की बात करते हैं. 9/11 के बाद इस्‍लाम के बारे में जो कुछ कहा गया वह उसी पश्चिम जगत की देन है, जहां वे कश्‍मीर के लिए भीख मांगने जाते हैं.

9/11 के बाद इस्‍लाम और आतंकवाद के विषय पर सऊदी अरब, यूएई समेत किसी मुस्लिम राष्‍ट्र ने यूएन के मंच से ऐसी बात नहीं की. वहीं, इमरान खान तो भारत के मुसलमानों से लेकर दुनिया भर के मुसलमानों से जेहाद की खुलेआम अपील की डाली. मतलब वह दुनिया को बता रहे हैं कि पाकिस्‍तान के पास दुनिया से मदद मांगने के लिए इस्‍लाम और मुसलमान के उन्‍माद के अलावा दूसरा कोई आधार नहीं है.

इमरान खान की मूर्खता देखिए कि एक तरफ तो वह अमेरिका और यूएन से मदद की गुहार लगा रहे हैं और दूसरी ओर उन्‍हीं पर इस्‍लाम और मुसलमान की अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं.

यूएन के मंच पर दुनिया का कोई भी देश सिर्फ हिंदू, मुसलमान या ईसाई की बात नहीं करता, वहां इंसानियत की बात होती है, लेकिन तालिबान खान वहां भी मजहबी तकरीरें देते नजर आए. ऐसा लगा मानो बीबी बुशरा ने यूएन जाने से पहले ओसामा बिन लादेन का आह्वान कर, उसकी आत्‍मा को इमरान खान के शरीर में प्रवेश करा दिया था, क्‍योंकि उनका पूरा भाषण कुछ-कुछ वैसा ही था जिस प्रकार से लादेन दिया करता था.

तालिबान इमरान खान को कौन समझाए कि मजहब के आधार पर वैश्विक मंचों से तकरीरें नहीं की जाती हैं बल्कि यहां बात ठोस तर्कों, तथ्‍यों और दुनिया में शांति स्‍थापना के मकसद के साथ की
जाती है. यदि कोई भी राष्‍ट्र उन्‍माद फैलाने की बात करेगा तो भारत तो क्‍या यूएन का प्रत्‍येक राष्‍ट्र खुद को उससे दूर कर लेगा.