तीन नई चीज़ें बताती हैं ये नहीं है ‘नए रैपर में पुराना बजट!’

लोगों का कहना है कि 2024 तक साफ पानी देने का वादा, इनकम टैक्स में छूट, ब्याज दर में छूट, पेट्रोल-डीजल महंगा, ये सब तो हर बजट में होता रहता है. इस वाले में नया क्या है?
Budget 2019, तीन नई चीज़ें बताती हैं ये नहीं है ‘नए रैपर में पुराना बजट!’

2019 का बजट संसद में पेश किया जा चुका है. बजट पर प्रधानमंत्री मोदी भी राष्ट्र के नाम संदेश दे चुके हैं. पूरे देश को उम्मीद थी कि ये वाला बजट एकदम नया होगा. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट की बजाय ‘बही खाता’ पेश किया. ब्रीफ केस की बजाय लाल किताब लेकर आईं. ये इसलिए था ताकि पश्चिम से प्रभावित गुलामी की मानसिकता से निकला जा सके. वहीं संसद में बजट का पूरा भाषण अंग्रेजी में देकर ये भी साबित किया कि पश्चिम से हम सिर्फ अपने काम की चीजें लेंगे.

अब आलोचक और सोशल मीडिया ट्रोल्स इस बजट को लेकर भिड़ गए हैं. सबका कहना है कि नए रैपर में पुराना माल पकड़ा दिया गया है. कहा जा रहा है कि ऐसा ही बजट पिछले साल, उसके पिछले साल और उसके पिछले साल भी आया था. तब सिर्फ ब्रीफ केस का फर्क था, कॉन्टेंट का नहीं. वहीं कुछ लोग अगले साल के बजट का इंतजार करने लगे हैं. सस्ते महंगे से उन्हें मतलब नहीं, उन्हें ये देखना है कि अगले साल किस कलर के रैपर में बजट आएगा.

लोगों का कहना है कि 2024 तक साफ पानी देने का वादा, इनकम टैक्स में छूट, ब्याज दर में छूट, पेट्रोल-डीजल महंगा, ये सब तो हर बजट में होता रहता है. इस वाले में नया क्या है? कुछ चीजें नई हुई हैं इस बजट में, यहां देखिए.

बही खाते में नया:

बताया गया कि इस बजट के मुताबिक बैंक से लोन मात्र 59 मिनट में पास हो जाएगा. ये खबर लंदन में बैठे नीरव मोदी ने देखी तो अपनी धारदार मूंछों के अंदर हंसने लगा. वो खुद यूके गवर्नमेंट से प्रार्थना करने वाला है कि जल्दी उसे भारत भेज दिया जाए. विजय माल्या ने इस खुशी में खाना पीना छोड़ दिया है.

वित्तमंत्री ने ऐलान किया है कि 1,2,5,10 और 20 रुपए के सिक्के जो मार्च में पीएम मोदी ने जारी किए थे वो जल्दी ही पब्लिक के बीच में होंगे. ये कम से कम एक नई चीज थी जो इस बजट से निकलकर आई. नए नोट और नए सिक्कों से जनता को तब तक तकलीफ नहीं होती जब तक पुराने किसी रात अचानक बंद न कर दिए जाएं.

एक नई चीज और भी है जिसका जिक्र वित्तमंत्री ने अपने भाषण में किया. स्टार्टअप स्कीम को बढ़ावा देने के लिए नया चैनल लॉन्च होगा. हम टेलीविजन प्रोग्राम शुरू करेंगे जो सिर्फ स्टार्ट अप पर फोकस्ड होगा. इससे उन्हें फंडिंग में मदद मिलेगी. ये आइडिया बिल्कुल नया है. हालांकि स्टार्टअप की तर्ज पर चुनाव से पहले नमो टीवी करके एक चैनल खोला गया था लेकिन अभी वो बंद हो गया है. आने वाले चैनल का क्या होगा ये भविष्य बताएगा.

नोट- ये लेखक के निजी विचार हैं और लेख व्यंग्य के उद्देश्य से लिखा गया है. 

ये भी पढ़ें:

ऐसा होगा पीएम मोदी के सपनों का ग्रामीण भारत, वित्त मंत्री सीतारमण ने बताई अहम बातें

नारी टू नारायणी मोड में मोदी सरकार, ‘सौभाग्य’ से घर में होगा ‘उजाला’

भी नागरिकों को 2024 तक साफ पीने का पानी देना सरकार की प्राथमिकता: वित्त मंत्री

Related Posts