Opinion: Chhapaak के समर्थन में उतरे तेज प्रताप यादव ने किसकी प्रेरणा से पत्नी को घर से निकाला?

छपाक फिल्म आने से पहले दीपिका पादुकोण का JNU जाना सियासी गलियारों में खूब हलचल पैदा कर गया है. ताजा बयान राष्ट्रीय जनता दल के नेता और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव की तरफ से आया है.
Tej pratap yadav tweet in support of chhapaak, Opinion: Chhapaak के समर्थन में उतरे तेज प्रताप यादव ने किसकी प्रेरणा से पत्नी को घर से निकाला?

छपाक (Chhapaak) फिल्म आने से पहले दीपिका पादुकोण(Deepika Padukone) का जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) जाना सियासी गलियारों में खूब हलचल पैदा कर गया है. फिल्म रिलीज होने के बाद भी नेताओं के बयान आने जारी हैं. ताजा बयान राष्ट्रीय जनता दल के नेता और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव की तरफ से आया है.

तेज प्रताप यादव ने ट्वीट कर लिखा है ‘ये जो छपाक है, ये सत्ता में बैठे लोगों को थपाक से क्यों लग रहा है. ये वही लोग हैं जो नारी सशक्तिकरण, महिला सुरक्षा, बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ जैसे भाषण देते फिरते हैं. दीपिका पादुकोण जी आप एक प्रेरणा हो.’

कितनी भावविभोर कर देने वाली बात कही है तेज प्रताप यादव ने? उनकी बात सुनकर ऐसा लगता है कि वो पूरी तरह से पाक साफ हैं तभी इतने कॉन्फिडेंस से अगले पर आरोप लगा रहे हैं. उनकी नेकनीयती का पता उनसे ज्यादा उनके ट्विटर फॉलोवर्स को है. तभी तो ट्रोल करने में लग गए हैं. वे तेज प्रताप यादव को धीरे से याद दिला रहे हैं कि उन्होंने अपनी पत्नी ऐश्वर्या को किन हालात में घर से निकाल दिया था.

पिछले महीने यानी दिसंबर के आखिरी हफ्ते में तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या का सामान उठाकर उनके मायके भेज दिया गया. ऐसा आजकल के खास दोस्त करते हैं जो दोस्त को घर से निकलकर गली तक छोड़ने जाते हैं ताकि वह वापस न लौट आए. तेज प्रताप यादव के घर वालों ने सुनिश्चित किया कि अब ऐश्वर्या लौट न पाएं.

तेज प्रताप यादव के बहुत से रूप दुनिया ने देखे हैं. उन्हें कभी कृष्ण की तरह बांसुरी बजाते देखा है, कभी शिव की तरह डमरू बजाते, कभी कांवड़ ले जाते, कभी जलेबी छानते. लेकिन ऐश्वर्या ने उनका जो रूप देखा है वह दुनिया या उनके समर्थक कभी देख नहीं पाएंगे. ये शाही शादी अब टूटने की कगार पर है और तेज प्रताप यादव किसी और को नारी सशक्तिकरण की धौंस दे रहे हैं. रिश्ता टूटना आम बात है लेकिन उससे पहले जबरन पत्नी को मायके भेजना नारी सशक्तिकरण नहीं है.

नोट- ये लेखक के निजी विचार हैं.

ये भी पढ़ेंः

65 साल के प्रोड्यूसर ने कहा- अपना टॉप उठाओ, Hostage की एक्ट्रेस ने सुनाई आपबीती

‘छपाक’ पर भारी पड़ी ‘तानाजी : द अनसंग वॉरियर’, जानें ओपनिंग डे पर कमाए कितने करोड़

Related Posts