व्यंग्य: आर्मी प्रवक्ता आसिफ गफूर क्या पाकिस्तान के चांद नवाब हैं?

पाक आर्मी प्रवक्ता आसिफ गफूर बालाकोट एयर स्ट्राइक को झुठलाने के लिए भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड ऑफिसर का पुराना वीडियो ट्वीट कर दिया.

पुलवामा हमले के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई के रूप में बालाकोट पर हुई एयर स्ट्राइक पाकिस्तान के गले की फांस बनी हुई है. ये गुड़ में डूबी ऐसी हंसिया बनी है कि पाकिस्तान न निगल पा रहा है न उगल पा रहा है. बेचारा प्रोपेगैंडा फैलाने में लगा हुआ है. इसी कड़ी में पाकिस्तानी आर्मी प्रवक्ता आसिफ गफूर ने रविवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया. वीडियो में भारतीय वायुसेना के पूर्व अधिकारी को दिखाते हुए लिखा कि ‘इससे साबित हो रहा है कि भारत को बालाकोट में हार का सामना करना पड़ा था.’

इस वीडियो को शेयर करने के बाद पाकिस्तान को भारी फजीहत का सामना करना पड़ा. ये तो खैर रोज़ की बात है, पाकिस्तान वालों को अब तक इसकी आदत पड़ गई होगी. जिसे आसिफ गफूर बालाकोट स्ट्राइक के बाद का वीडियो बता रहे थे वो चार साल पुराना था. 9 अगस्त 2015 को 1962 और 1965 की लड़ाई पर एक प्रोग्राम के दौरान ये शूट किया गया था. रिटायर्ड एयर मार्शल डेंजल कीलर पुराने घटनाक्रम पर बात कर रहे थे. कोई व्हाट्सऐप पर हद से ज्यादा भरोसा करने लगे तो यही होता है. उस वीडियो में अलग से विंडो डालकर मिग-21 का वीडियो डाल दिया बस इतने में आसिफ गफूर चकरा गए.

वीडियो पोस्ट होते ही भारतीय ट्विटर यूजर्स ने आसिफ गफूर की जानकारी दुरुस्त कराई. सारा दिन ट्रोल होने के बाद आखिर शाम को गफूर ने माफी मांगते हुए ट्वीट किया. कहा कि एयर मार्शल की बात और बालाकोट इतने समान थे कि अंतर करना मुश्किल था. ये तो गफूर साहब का बड़प्पन था नहीं तो बेशर्मों की तरह दांत चियार कर कह देते ‘सान्नू की?’ मजे की बात है कि सारा दिन की ट्रोलिंग झेल ली. अगर पलटकर कुछ रिप्लाई करते तो भारतीय यूजर्स उनके ट्विटर पर भी एक सर्जिकल स्ट्राइक कर देते.

इंडियन एयर फोर्स के हालात पर कमेंट्री करते हुए आसिफ गफूर ये भूल गए कि 27 फरवरी को एयर स्ट्राइक के जवाब में जो अपने लड़ाकू विमान भारत के सैन्य ठिकानों पर हमले के लिए भेजे थे, उनमें एक अमेरिकी F-16 भी था. भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने अपने मिग-21 से F-16 को मार गिराया था.

तो कुल मिलाकर एक नई बेवकूफी करके आसिफ गफूर फेमस हो गए हैं. यही पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रॉब्लम है. वो जिसे फेमस कराना चाहता है वो हो नहीं पाता. कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान में अपना चांद पर जाने का प्लान फेमस करना चाहा था. पूरा देश ट्रोल हो गया. पाकिस्तान में न तो एक्टर फेमस होते हैं न क्रिकेटर. आजकल वहां सिर्फ न्यूज़ रिपोर्टर फेमस हो पाते हैं. जो पानी के अंदर कूद जाते हैं. उन सबके बीच आसिफ गफूर ने जो अपना फेम चुराने की कोशिश की है, उसकी तारीफ तो होनी चाहिए.