‘टाइटैनिक’ हो गई है कांग्रेस, इन चार तरीकों से बचा सकती है विधायक!

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के सभी मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि यहां कांग्रेस सरकार पांच साल नहीं चलने वाली.

बीजेपी की सरकार केंद्र के अलावा अधिकतर राज्यों में है लेकिन इतना काफी नहीं है. जो दो-चार राज्य कांग्रेस या किसी अन्य पार्टी की सरकार बनाने की ‘गलती’ कर चुके हैं, उन्हें बीजेपी गलती सुधारने का मौका देने में लगी हुई है. इसका एक ही तरीका है, उनके विधायक तोड़कर अपनी पार्टी में मिला लिये जाएं.

कर्नाटक में नाटक चल ही रहा है. कांग्रेस-जेडीएस के सभी मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. वहां किसी भी वक्त सरकार गिर सकती है. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि यहां कांग्रेस सरकार पांच साल नहीं चलने वाली. कांग्रेस के कई विधायक हमारे संपर्क में हैं. पश्चिम बंगाल के 40 विधायक हमारे संपर्क में हैं, ये प्रधानमंत्री मोदी खुले मंच से कह चुके हैं. कांग्रेस मुक्त भारत की जगह कांग्रेसी युक्त भाजपा बनाने का फुल प्लान बन चुका है. सरकार बनानी है, किसी भी कीमत पर.

कहते हैं जाने वालों को कोई नहीं रोक सकता. न रिजॉर्ट, न होटल, न मंत्री पद. कांग्रेस पार्टी टाइटैनिक हो गई है. उतनी ही विशाल और डूबने को तैयार. वो डूबते जहाज से चूहे वाली कोई कहावत थी न…खैर छोड़िए. कांग्रेस संकट में है, इस बात को देश का बच्चा बच्चा जानता है. अब कांग्रेस अपने विधायकों को बचाने के लिए निम्नलिखित जुगाड़ अपना सकती है.

1. चिप

ज़माना हाईटेक हो रहा है. कांग्रेस अब भी पुराने तरीकों में लगी हुई है. अब तो 2000 के नोट में भी चिप लग चुकी है. वैसी ही चिप कांग्रेस अपने विधायकों में सर्जरी करके लगवा दे. जैसे ही ये बीजेपी के किसी नेता के संपर्क में आएंगे, अलार्म बज उठेगा. लाल बत्ती जल जाएगी. ऐसा होते ही कांग्रेस अपने विधायक को नजरबंद कर सकती है.

2. लालच

वैसे तो अभी कांग्रेस लालच देने की हालत में नहीं है. फिर भी लालच की महत्ता यही है कि वो जब दिया जाता है तो लालच करने वाले को कुछ हासिल नहीं होता. जैसे मल्टीलेवल मार्केटिंग वाले फंसाते हैं, उसी तरह कांग्रेस को अपने विधायक फंसाकर रखने चाहिए. सच्चे कांग्रेसी होंगे तो लालच में जरूर आएंगे.

3. डर

डर मंत्री पद जाने का या पार्टी से निकालने का नहीं, वो तो खुद ही जाने को तैयार हैं. जान माल का डर दिखाने से कुछ हो सकता है. अब सब कुछ खोलकर बताने की जरूरत नहीं है, अमित शाह सब देख रहे हैं.

4. गठबंधन

ये सबसे कारगर तरीके हो सकता है. कांग्रेस अगर बीजेपी से गठबंधन कर ले तो उसके विधायक कांग्रेस के ही रहेंगे, भले सरकार बीजेपी की बन जाए. दोनों एक साथ मजे से सरकार चलाएंगे. बस प्रॉब्लम ये है कि बीजेपी मान जाए. बीजेपी कश्मीर में पीडीपी से गठबंधन करके सरकार चला चुकी है. सरकार बनाने के लिए वो किसी से भी गठबंधन कर सकती है.

इतने आइडियाज़ में से अगर एक भी सही तरीके से अप्लाई किया जाए तो कांग्रेस अपने विधायकों को बचा सकती है.

नोट- ये लेखक के निजी विचार हैं और लेख व्यंग्य के उद्देश्य से लिखा गया है.