अजय देवगन ने कहा वो तंबाकू का नहीं इलायची का प्रचार करते हैं, सच ये है

अजय देवगन से एक हफ्ते पहले एक कैंसर पीड़ित ने अपील की थी कि वो तंबाकू उत्पादों का प्रचार न करें. अजय देवगन ने इस पर चुप्पी तोड़ी है.

कुछ ही दिन पहले एक कैंसर पीड़ित व्यक्ति ने अजय देवगन से अपील की थी कि वो तंबाकू उत्पादों का प्रचार न करें. इस अपील के लगभग एक हफ्ते बाद अजय देवगन का रिएक्शन आया है. उन्होंने कहा कि वो समाज पर निगेटिव असर डालने वाली किसी भी चीज को बढ़ावा नहीं देते. वो तंबाकू का नहीं, इलायची का प्रचार करते हैं. उन्होंने कहा कि वह अपने फैन के संपर्क में हैं और उनके कॉन्ट्रैक्ट में लिखा रहता है कि वो तंबाकू का प्रचार नहीं करेंगे.

अजय देवगन ने कहा कि मैंने अपने कॉन्ट्रैक्ट में ये लिख रखा है कि मैं तंबाकू का प्रचार हरगिज नहीं करूंगा. मुझे जो ऐड दिया गया वो इलायची का है. अगर वही कंपनी दूसरी चीज भी बेच रही है तो मुझे पता नहीं कि ऐसे में क्या करना चाहिए. पिछले हफ्ते जयपुर के नानकराम ने उनसे अपील की थी कि वो तंबाकू उत्पादों का विज्ञापन न करें. कहा था कि वो अजय देवगन के फैन हैं और उसी पान मसाले का प्रयोग किया जिसका प्रचार अजय देवगन करते हैं.

 

अजय देवगन ने बताया कि वो इलायची का प्रचार करते हैं लेकिन वो इलायची का नहीं, केसर का प्रचार करते हैं. जिस पान मसाले का ऐड वो करते हैं उसकी टैगलाइन है ‘दाने दाने में केसर का दम.’ वो एक पान मसाला है, जिसे दूसरे शब्दों में माउथ फ्रेशनर भी कहा जाता है. खाने वाले उसे बिना तंबाकू के नहीं खाते. तंबाकू का पाउच साथ में फ्री मिलता है. उस पाउच पर स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस के मुताबिक कैंसर ग्रस्त मुंह का बड़ा सा फोटो रहता है.

इसे कहते हैं सरोगेट ऐड

इस तरीके को सरोगेट ऐडवर्टाइजिंग कहते हैं. 1995 में भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने पाया कि शराब और तंबाकू उत्पादों का प्रचार जनता के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है. वो ये प्रॉडक्ट्स प्रचार से प्रेरित होकर खरीदते हैं, इस्तेमाल करते हैं और बीमार होते हैं.

इन प्रॉडक्ट्स के प्रचार पर रोक लगा दी गई. कंपनियों ने नया तरीका निकाला. अब भी वो तरीका टीवी पर आप देख सकते हैं. बैगपाइपर सोडा की आड़ में शराब का प्रचार, रजनीगंधा इलायची की आड़ में पान मसाने का प्रचार होता है. ये घुमाकर कान पकड़ने जैसा मामला है. जैसे इम्पीरियल ब्लू म्यूजिक सीडी का प्रचार होता है लेकिन उसकी व्हिस्की ही बिकती है.

अगर फिल्म इंडस्ट्री में 25 साल बिता चुके अजय देवगन 25 साल पुरानी कंपनी विमल के लिए सिर्फ इलायची का प्रचार करते हैं और उन्हें यह भी नहीं पता कि उसकी आड़ में तंबाकू का प्रचार किया जा रहा है तो ये बहुत बचकाना मामला है.