Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए
Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

आइए जानते हैं कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने का सपना लिए पवार आज राजनीति की शतरंज में कैसे चेकमेट हुए.

अगर आप राजनीति के बारे में बहुत ज्यादा जानने को आमादा रहते हैं, तो आप ये जानते ही हैं कि शरद पवार को महाराष्ट्र कि राजनीति का चाणक्य माना जाता है. उनका राजनीतिक अंदाज इतना अचूक माना जाता है कि पवार जिस नेता के सिर पर हाथ रख दें वह राजनीति के समंदर में तर जाता है.

महाराष्ट्र में राजनीति का चाणक्य माने जाने वाले पवार को उनके ही भतीजे अजित पवार ने झटका दिया. अगर कहें तो राजनीति की शतरंज में उन्हें अच्छा खासा चेकमेट दिया है. आइए जानते हैं कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने का सपना लिए पवार आज राजनीति की शतरंज में कैसे चेकमेट हुए.

12 नवंबर 2019- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा. राष्ट्रपति शासन इसलिए लगा क्यूंकि बीजेपी और शिवसेना सरकार नहीं बनाना चाह रहे थे. इसी के संदर्भ में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि फडणवीस घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं और महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन दिखावे के लिए लगाया गया है.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

13 नवंबर 2019– कांग्रेस,एनसीपी और शिवसेना ने कहा कि अब बीजेपी के खिलाफ एक होने का वक्त आ गया है. साथ ही उन्होंने ये भी माना कि अब सारे विचारधारा के अंतर भुलाने होंगे. लेकिन थोड़े ही समय में इस गठबंधन में गांठें दिखने लगीं और कांग्रेस ने एक बड़ा शेयर मांग लिया. कांग्रेस ने तो इस दौरान स्पीकर के पद की फरमाइश कर दी.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

14 नवंबर 2019- महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर बातचीत शुरुआती दौर में है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि तींनों दलों ने एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम और सत्ता के बटवारे पर फार्मूला साझा किया है.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

15 नवंबर 2019- कांग्रेस और एनसीपी के बीच हुई साझेदारी अभी आकर ले ही रही थी, इसी दौरान महाराष्ट्र के दिग्गज नेता शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच मुलाकात हुई.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

16 नवंबर 2019- शिव सेना ने बीजेपी के ऊपर विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप मढ़े. अपने अख़बार ‘सामना’ के जरिए शिवसेना ने देवेंद्र फडणवीस पर भी तंज कसा और कहा कि 105 सीटों के बाद भी वह कहते हैं कि उनके पास सरकार बनाने की ताकत नहीं.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

17 नवंबर 2019- शरद पवार और सोनिया गांधी के बीच मुलाकात हुई. शिवसेना और बीजेपी के बीच चल रही छीछा लेदर की वजह से कांग्रेस और एनसीपी को लगा कि उन्हें एक दमदार  साथी मिल चुका है. ये बात तब और भी पुख्ता हो गई जब शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने मशहूर उर्दू कवि बशीर बद्र कि कुछ पंक्तियों के जरिए बीजेपी पर निशाना साधा.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

19 नवंबर 2019- शिवसेना ने दावा किया कि अभी कोई बहस नहीं होगी, नवंबर के अंत में सरकार बनाई जाएगी.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

20 नवंबर 2019- एनसीपी के दिग्गज नेता नवाब मालिक और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने प्रेस वार्ता कर बताया कि उन्हें पूरा यकीन है कि महाराष्ट्र में एक स्थाई सरकार का गठन होगा.  इस दिन को जरूरी इसलिए माना जाएगा क्योंकि इस दिन शिवसेना और एनसीपी ने अपने गठजोड़ की एकदम स्पष्ट घोषणा की थी.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

21 नवंबर 2019- कांग्रेस इस साझेदारी में और करीब आने लगी. कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच हुई मीटिंग के बाद कांग्रेस वर्किंग समिति ने शिवसेना और एनसीपी के साथ सरकार बनाने का निर्णय लिया.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

22 नवंबर 2019- शिवसेना सांसद संजय राउत ने उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनाए जाने की घोषणा कर दी. कुछ समय बाद उद्धव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वह तभी कोई बयान देंगे जब सब कुछ साफ हो जाएगा. लेकिन बाद में एलान किया गया कि स्वस्थ संबंधी कारणों के चलते उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

23 नवंबर 2019- इस दिन महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन हट गया. शरद पवार को तो उनके अपनों ने लूटा, गैरों में कहां दम था. जी हां, एनसीपी के वरिष्ठ नेता और शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार का गठन किया. इसी के चलते देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र के दूसरे मुख्यमंत्री बने हैं. हालिया जानकारी के मुताबिक एनसीपी प्रमुख शरद पवार और उद्धव ठाकरे की प्रेस वार्ता में पवार ने दावा किया है कि अजित पवार एनसीपी के विधायकों को धोखे से राजभवन ले गए.

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

ये भी पढ़ें-

1978 में सीएम बनने के लिए जो शरद पवार ने किया, भतीजे ने दोहराया वही इतिहास

‘महाराष्ट्र में सीएम बनना ठीक वैसे ही जैसे दूल्हे की हो गई शादी बिना बैंड-बाजा और बारात’

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए
Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए

Related Posts

Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए
Sharad Pawar maharashtra politics, शरद पवार के ‘चाणक्य’ से ‘चेकमेट’ होने का सफर, तारीख और तस्वीरों से समझिए