13 साल पहले आज ही के दिन भारत ने जीता था टी-20 विश्व कप, खुशी से झूम उठा था देश

इस टूर्नामेंट में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), राहुल द्रविड़ जैसे टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ियों ने भाग नहीं लिया था. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इस जीत को याद करते हुए एक वीडियो शेयर किया है.

भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) ने आज ही के दिन 13 साल पहले दक्षिण अफ्रीका में आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) की ट्रॉफी उठाई थी. साल 2007 में पहली बार टी-20 विश्व कप खेला गया था और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में युवा भारतीय टीम ने फाइनल में पाकिस्तान को 5 रन से हराकर खिताब अपने नाम किया था. इस खिताबी जीत के बाद से ही भारतीय क्रिकेट में धोनी युग की शुरुआत हुई थी. इस टूर्नामेंट में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), राहुल द्रविड़ जैसे टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ियों ने भाग नहीं लिया था. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इस जीत को याद करते हुए एक वीडियो शेयर किया है.

पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल बेहद ही रोमांचक हुआ था. पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रनों की दरकार थी. क्रीज पर मिस्बाह उल हक और मोहम्मद आसिफ मौजूद थे. लेकिन गेंदबाज जोगिंदर शर्मा ने मिस्बाह को आउट कर मैच को पाकिस्तान से छीन लिया था.

यह भी पढ़ेंः भारत को वर्ल्ड कप जिताने वाला धोनी का वो सिक्स, जिसे 9 साल बाद अलग पहचान मिलने वाली है

टीम इंडिया की बल्लेबाजी में गौतम गंभीर सबसे ज्यादा स्कोरर रहे. उन्होंने 75 रन बनाए थे.  इसके बाद रोहित शर्मा टीम के दूसरे बड़े स्कोरर रहे. उनके बल्ले से 30 रन निकले थे. भारत ने 20 ओवरों में 157 रन बनाए थे.

जोगिंदर शर्मा रहे मैच के हीरो

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. टीम इंडिया के तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने पहले ही ओवर में पाक ओपनर मोहम्मद हफीज को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई थी.

आखिरी ओवर जोगिंदर शर्मा कर रहे थे और पाक को जीत के लिए 6 गेंद पर 13 रनों की जरुरत थी. मिस्बाह ने जोगिंदर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ दिया और भारतीय फैंस में खामोशी छा गई. अब 4 गेंद पर सिर्फ 6 रन चाहिए थे. मिस्बाह को जोगिंदर अगली गेंद ललचाई हुई फेंकी और मिसबाह छक्का मारने के लिए उस गेंद को हवा में उठा दिया, गेंद ने ऊंची तो गई लेकिन दूरी नहीं तय कर सकी और श्रीसंत ने उसे कैच कर लिया. इसके बाद टीम इंडिया खुशी से झूम उठी थी.

 

Related Posts