राजस्थान में बारिश के चलते 50 घंटे से स्कूल में फंसे 350 बच्चे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

स्थानीय लोग स्टूडेंट्स और टीचर्स की मदद में लगे हुए हैं. इनके लिए भोजन की व्यवस्था की जा रही है.

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के एक स्कूल में भारी बारिश के चलते 350 से ज्यादा बच्चे और 50 शिक्षक फंसे हुए हैं. राणा प्रताप बांध में जलस्तर बढ़ने के कारण सड़कें बुरी तरह से अवरुद्ध हो गई हैं. स्थानीय लोग छात्रों और शिक्षकों की मदद में लगे हुए हैं. इनके लिए भोजन की व्यवस्था की जा रही है.

Live Updates:

  • बच्चों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया जा चुका है.
  • टीवी 9 भारतवर्ष की खबर के बाद चित्तौड़गढ़ के सांसद सीपी जोशी स्कूल पहुंचे हैं. वो नाव की सहायता से स्कूल तक पहुंचे.
  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को राज्य के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया.

  • चित्तौड़ में मऊपुरा गांव के बालिका छात्रावास में भी तीन दिन से तकरीबन 150 छात्राएं फंसी हुई हैं. छात्रवास की बच्चियां रावतभाटा स्कूल पढ़ने जाती हैं लेकिन पिछले तीन दिन से वो नहीं जा पा रही हैं.
  • परेशान माता-पिता टीवी9 भारतवर्ष के इस नंबर पर 0120-4909909 पर कॉल करें.
  • राजस्थान में पिछले कई दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. बारशि के कारण चंबल नदी के बहने से कोटा के निचले इलाके बाढ़ से घिर गए हैं. इस वजह से लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

  • राहत और बचाव कार्य के लिए कोटा और झालावाड़ में सेना बुला ली गई है. सेना बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने में लगी हुई है. बारिश न थमने की वजह से राहत और बचाव कार्य में दिक्कतें आ रही हैं.

  • राजस्थान के कोटा, बारां और झालावाड़ में बारिश के कारण कई बांधों से पानी बाहर आने लगा है. बारिश की वजह से बांसवाड़ा में हालात काफी बिगड़ने लगे हैं. सड़कों पर पानी भर जाने की वजह से कई गांवों का आपस में संपर्क कट गया है. बांसवाड़ा जिले के नदी-नाले उफान पर हैं. यहां रहने वाले लोग काफी परेशान हैं.

ये भी पढ़ें-

यूपी में नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत बैलगाड़ी का काट दिया गया चालान

बिहारः मुजफ्फरपुर शेल्टर होम से छुड़ाई गई लड़की से चलती कार में गैंगरेप, 4 पर केस दर्ज

UP: पिता का दोस्त बना हैवान, 6 साल की मासूम बच्ची का रेप कर उतारा मौत के घाट