अलवर गैंगरेप: थानाधिकारी के बाद एसपी पर गिरी गाज, सरकार ने किया एपीओ

इससे पहले दिन में थानागाजी थानाप्रभारी सरदार सिंह को निलंबित किया जा चुका है.

जयपुर: अलवर जिले के थानागाजी इलाके में पति को बंधक बनाकर पत्नी से गैंगरेप के मामले में राज्य सरकार नींद से जाग गई है. सरकार ने एक आदेश जारी कर अलवर जिले के पुलिस अधीक्षक राजीव पचार को हटा दिया है. जिसको लेकर कार्मिक विभाग ने आदेश जारी किया है. उनके स्थान पर आईपीएस अंशुमान को नया एसपी नियुक्त किया गया है.

अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप के आदेश अनुसार अलवर पुलिस अधीक्षक पचार अग्रिम आदेशों तक प्रतीक्षा में रहेंगे. इस पूरे गैंगरेप प्रकरण का अलवर एसपी राजीव पचार को खामियाजा भुगतना पड़ा है. इस प्रकरण में एसपी की लापरवाही मानी गई है.

एसपी पर ये है आरोप
दरअसल एसपी पर आरोप है कि चुनाव के कारण प्रकरण को दबाया था. इससे पहले थानागाजी थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया. डीजीपी कपिल गर्ग ने निलंबन के आदेश जारी किए थे. वहीं मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चूका है. पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को भी गिरफ्तार किया है. इससे पहले पुलिस ने इंद्राज गुर्जर को गिरफ्तार किया था. मामले में पांच आरोपी नामजद हैं, वहीं अब तीन की गिरफ्तारी शेष है.

ये भी पढ़ें- अलवर कांड का एक आरोपी गिरफ्तार, बाइक रोककर पति के सामने किया महिला से गैंगरेप

सियासत हुई तेज
इस मामले में अब सियासत भी तेज हो गई है. थाना गाजी गैंगरेप प्रकरण को लेकर राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निवास पर कूच करेंगे.

ये है पूरा मामला
अलवर जिले के थानागाजी इलाके में पति को बंधक बनाकर पत्नी से पांच युवकों ने न केवल सामूहिक दुष्कर्म किया, बल्कि वीडियो भी बना लिया. पीड़िता ने दो मई को रिपोर्ट दर्ज कराई. इसमें कहा कि वह 26 अप्रैल को दोपहर तीन बजे पति के साथ बाइक से गांव लालवाड़ी से तालवृक्ष जा रही थी.

थानागाजी-अलवर बाईपास रोड पर दुहार चौगान वाले रास्ते से कुछ ही दूर पर उनकी बाइक के आगे पांच युवको ने अपनी 2 बाइक लगा दी और रोक लिया. युवकों की उम्र 20-25 साल थी. युवक महिला व पति को जबरन रेत के बड़े टीलों की तरफ ले गए. वहां उसके पति से पहले मारपीट की, फिर बंधक बना लिया. बाद में पांचों युवकों ने महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया. इस मामले में पुलिस पर भी आरोप लगाया जा रहा है कि उन्होंने चुनाव के कारण मामले को चार दिन तक दबाए रखा.

ये भी पढ़ें

‘नीच जाति का हमारे साथ खाएगा तो मरेगा’, अगड़ी जाति के व्‍यक्तियों की पिटाई से दलित की मौत

बिहार में मनचलों की शर्मनाक हरकत, पहले छेड़ा फिर पीटा भी, Video Viral