Coronavirus: राजस्थान में चमगादड़ों को भगाना या मारना कानूनी अपराध

राजस्थान (Rajasthan) सरकार ने आदेश में कहा है कि चमगादड़ (Bat) प्रकृति में परागण, बीजों को फैलाने समेत अन्य कई महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. अब तक इस तरह के कोई भी प्रमाणित शोध नहीं हुए हैं, जिसमें चमगादड़ों को Coronavirus का कारण माना जाए.
Bat killing is an offense, Coronavirus: राजस्थान में चमगादड़ों को भगाना या मारना कानूनी अपराध

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के दौरान कुछ रिपोर्टों में चमगादड़ (Bat) को इस बीमारी के लिए जिम्मेदार बताया गया है, जिसके कारण आम जनता में चमगादड़ों के प्रति बदले की भावना बनी है. कुछ स्थानों पर जैसे राजस्थान के चुरू (Churu) में चमगादड़ों को हटाने या भगाने के समाचार भी सामने आए हैं.

इसे देखकर राजस्थान सरकार के वन विभाग (Forest Department) की ओर एक आदेश जारी किया गया है. इसके तहत, चूरू प्रदेश में अब चमगादड़ को भगाना या मारना कानूनी अपराध होगा. आदेश के अनुसार, इसके लिए मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

चमगादड़ों से कोरोनावायरस फैलने के नहीं हैं सबूत

राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने आदेश जारी कर कहा कि चमगादड़ से कोरोनावायरस फैलने के न सबूत हैं, न ऐसा किसी रिसर्च में प्रमाणित हुआ है. ऐसे में चमगादड़ों को कोरोना फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहरा कर भगाना या मारना वन्य जीव संरक्षण कानून में एक अपराध है. ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से राजस्थान के कुछ इलाकों में चमकादड़ों को भगाने और मारने की खबरें आने लगीं. लोग चमगादड़ों को कोरोना स्प्रेडर (Corona Spreader) मानने लगे हैं. आदेश में यह भी कहा गया है कि वन अधिकारी चमगादड़ों को लेकर फैल रही गलतफहमियों को दूर करें.

चमगादड़ों को लेकर किए गए ये दावे

गौरतलब है कि कोरोनावायरस महामारी को लेकर चमगादड़ इस समय काफी सुर्खियों में हैं. ज्यादातर रिपोर्ट्स का दावा है कि यह महामारी चमगादड़ों से ही फैली है. हालांकि, वैज्ञानिक अभी तक इस बात का पता नहीं लगा पाए हैं कि कोरोनावायरस के फैलने की शुरुआत कैसे हुई थी. लेकिन यह माना जा रहा है कि यह वायरस चीन (China) में पाए जाने वाले हॉर्स शू प्रजाति के चमगादड़ों से फैली है. लोग चमगादड़ों को ख़त्म करने की कोशिश करने लगे हैं.

प्रकृति के लिए जरूरी हैं चमगादड़

राजस्थान सरकार ने आदेश में कहा है कि चमगादड़ प्रकृति में परागण, बीजों को फैलाने और अन्य कई महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इस तरह के कोई भी प्रमाणित शोध अब तक नहीं हुए हैं, जिसमें चमगादड़ों को कोरोनावायरस का कारण माना जाए. ऐसी स्थिति में आम लोगों के बीच चमगादड़ के लिए फैली गलतफहमियों को दूर करने के लिए लोगों को समझाया जाना चाहिए. अगर चमगादड़ भगाने या मरने जैसी कोई भी सूचना या जानकारी सामने आती है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts