Rajasthan: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रघु शर्मा के बेटे का रवैया मंत्री जैसा, BJP प्रदेश अध्यक्ष ने खड़े किये सवाल

BJP राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने भी चिकित्सा मंत्री और राजस्थान सरकार पर सवाल खड़े किए हैं. पूनिया ने सवाल पूछा कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के बेटे ने अजमेर कलेक्टर के साथ किस हैसियत से और किस संवैधानिक व्यवस्था के तहत प्रेस को संबोधित किया?
son of minister attitude, Rajasthan: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रघु शर्मा के बेटे का रवैया मंत्री जैसा, BJP प्रदेश अध्यक्ष ने खड़े किये सवाल

राजस्थान (Rajasthan) सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा (Raghu Sharma) के बेटे सागर शर्मा की शिकायतें बढ़ती जा रही हैं. लोगों का कहना है कि मंत्री के बेटे होने की वजह से अजमेर (Ajmer) जिले में उनका दखल बढ़ता ही जा रहा है.

मंत्री की तरह करते हैं व्यवहार

हाल ही में 20 अप्रैल को एक नया मामला सामने आया है. रघु शर्मा ने विधायक फंड से कोरोनावायरस (Coronavirus) के लिए काम आने वाले मास्क और सैनिटाइजर, 30 लीटर वाले पांच बड़े क्रेन, 7,000 जोड़ी दस्ताने, 600 मेडिकेटेड साबुन (Medicated Soaps) और हैंडवॉश जैसी सामग्री अपने बेटे सागर शर्मा (Sagar Sharma) के द्वारा अजमेर जिले के लिए भेजीं. सागर शर्मा ने ये सभी सामग्री अजमेर जिले के कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा  (Vishwa Mohan Sharma) को सौंप दी.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

सामग्री सौंपने के बाद उन्होंने अधिकारियों से कोरोनावायरस से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी भी ली. इसके अलावा उन्होंने कलेक्टर परिसर में अपनी गाड़ी शाही अंदाज में पार्क की. इतना ही नहीं, बैठक के बाद जिला प्रशासन ने प्रेस वार्ता की, जिसके अंदर जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा, पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप, CMHO केके सोनी आदि शामिल थे और उस प्रेस कॉन्फ्रेंस को सागर शर्मा ने भी संबोधित किया.

BJP प्रदेश अध्यक्ष ने खड़े किए सवाल

इस मामले पर BJP राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने भी चिकित्सा मंत्री और राजस्थान सरकार पर सवाल खड़े किए हैं. पूनिया ने कहा कि चिकित्सा मंत्री के बेटे ने अजमेर कलेक्टर के साथ किस हैसियत से और किस संवैधानिक व्यवस्था के तहत प्रेस को संबोधित किया. गहलोत सरकार के राज में, सत्ता और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग हो रहा है. अधिकारियों पर दबाव बनाया जा रहा है.

कर चुके हैं ऐसा पहले भी कई बार

यह कोई पहला मामला नहीं है कि जब रघु शर्मा के बेटे सागर शर्मा के तेवर मंत्रियों जैसे नजर आ रहे हैं. बीते करीब 1 महीने पहले भी कुछ ऐसी ही तस्वीरें सामने आई थीं, जब पुष्कर के आयुर्वेदिक विभाग ने काढ़ा वितरण कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. उसी समय सागर ने राजकीय अस्पताल पुष्कर का निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया. तब भी यह सवाल उठे थे कि रघु शर्मा के बेटे सागर शर्मा आखिर किस हैसियत से अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं और सरकारी कार्यक्रमों में भाग ले रहे हैं. इन सब में CMHO, थानाधिकारी सहित नायब तहसीलदार भी उनका स्वागत कर रहे हैं.

ऐसे में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा पर यह सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर क्यों वे कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के अंदर भी अपने बेटे की सियासी जमीन को मजबूत कर रहे हैं?

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts