तबलीगी जमात कांड से भी नहीं संभले, अजमेर के पास उर्स मेले में लॉकडाउन की उड़ीं धज्जियां, हुआ लाठीचार्ज

अजमेर जिले के सरवाड़ स्थित प्रसिद्व दरगाह में उर्स के मेले की चादर चढ़ाने का कार्यक्रम 31 मार्च को लॉकडाउन के बीच रखा गया. पुलिस की अनुमति कुछ लोगों को थी जबकि मौके पर करीब 100 लोग वहां पहुंच गए.
Broke down lockdown rules ajmer, तबलीगी जमात कांड से भी नहीं संभले, अजमेर के पास उर्स मेले में लॉकडाउन की उड़ीं धज्जियां, हुआ लाठीचार्ज

कोरोना वायरस (Coronavirus) की मार के चलते दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुआ जलसा एक बड़ी परेशानी का सबब बन गया है. इनमें शामिल 24 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. वहीं 400 से ज्यादा लोगों में कोरोना के लक्षण पाए जाने की खबर है.

इसके बावजूद भी राजस्थान (Rajasthan) के अजमेर से एक लापरवाही की खबर सामने आई है. अजमेर जिले के सरवाड़ में ख्वाजा मोइनुद्वीन चिश्ती के बड़े बेटे ख्वाजा मोइनुद्वीन हसन चिश्ती की प्रसिद्व दरगाह में उर्स के मेले की चादर चढ़ाने का कार्यक्रम 31 मार्च को लॉकडाउन के बीच रखा गया.

जहां पर सोशल डिस्टेंस और लॉकडाउन के नियम एक तरफ धरे रह गए. करीब 100 लोगों ने मस्जिद में पहुंचकर रस्म शुरू कर दी. वहीं पुलिस ने जब भीड़ को समझाने की कोशिश की तो धार्मिक समूह के लोग पुलिस की नहीं माने. जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और पुलिस ने दरगाह के प्रमुख सहित 6 लोगों पर मामला दर्ज कर लिया.

10 लोगों को दी थी अनुमति

अजमेर एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने टीवी9 भारतवर्ष को बताया कि अजमेर के सरवाड़ दरगाह शरीफ पर अजुंमन कमेटी दरगाह अजमेर के सदस्यों द्वारा चांदर चढ़ाने का कार्यक्रम था. अजमेर की इस कमेटी के 10 सदस्य को जिला कलेक्ट्रर अजमेर की ओर से परमिशन दी गई थी. इनके सरवाड़ दरगाह में पहुंचने के बाद वहां काफी तादात में लोग मस्जिद के पीछे हिस्से से पहुंचे गए.

हमें जब जानकारी मिली तो हमने समझाने का प्रयास किया. वे नहीं माने तो हमने हल्का बल का प्रयोग करके उनको खदेड़ा. मस्जिद के प्रमुख सहित 6 लोगों के खिलाफ राजस्थान एपीडिमिक डिजीज के तहत मामला दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया है. जिसमें जमालुदीन हुसैन, मो मिराज, फकीर बाबा दरगाह सरवाड़, बसन्त कुशवाह, अजहर, नवाब कुरैशी को गिरफ्तार किया है.

राजस्थान के कुछ लोग भी मरकज में शामिल होकर लौटे

वहीं राजस्थान में भी कुछ लोग तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होकर लौटे हैं. जिनमें चूरू, उदयपुर, अजमेर , टोंक और बाड़मेर से तबलीगी जमात के लोगों को प्रशासन ने पकड़ा लिया है. इन लोगों की पहचान करके जिला प्रशासन की ओर से कोरोना संक्रमण को लेकर स्क्रीनिंग भी करवाई गई है. अलग-अलग जगह से इनके सैंपल जुटाकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं. साथ ही इनको मॉनिटरिंग कर आइसोलेशन में रखा गया है.

 

Related Posts