राजस्थान: पैसे के लिए 1 साल के लिए बेच दिए अपने जिगर के टुकड़े

बच्चों के सब्र का बांध टूटा तो ये उन लोगों के यहां से भाग गए जिनकों इन्हें बेचा गया था. भवानीमंडी पहुंचे दोनों बच्चों को बालकल्याण समिति को सौंप दिया गया, जहां से कोरोना टेस्ट के बाद इनके जिले को सूचित किया जाएगा.
Childrens sold by parents for rupees in Rajasthan Jhalawar, राजस्थान: पैसे के लिए 1 साल के लिए बेच दिए अपने जिगर के टुकड़े

राजस्थान (Rajathan) के झालावाड़ (Jhalawar) की एक घटना चौंकाने वाली है, यहां की बालसमिति को ऐसे दो बच्चे मिले हैं, जिनके अपनों ने उन्हें पैसों के लिए बेच दिया. इनमें से एक बांसवाड़ा का है और दूसरा मध्य प्रदेश के अली राजपुर का. दोनों को उनके अपनों ने ही पैसे के लिए बेच दिया, बच्चों के मुताबिक उनके मां-बाप ने उन्हें 1 साल के लिए बेच दिया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

जब बच्चों के सब्र का बांध टूटा तो वो उन लोगों के यहां से भाग गए जिनकों इन्हें बेचा गया था. भवानीमंडी पहुंचे दोनों बच्चों को बालकल्याण समिति को सौंप दिया गया. जहां से कोरोना टेस्ट के बाद इनके ज़िलों को सूचित किया जाएगा. झालावाड़ बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष के मुताबिक समिति इनके परिजनों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.

आपको बता दें कि झालावाड (Jhalawar) ज़िले में इन दिनों भेड़ पालकों के समूहों को भेड़ें लेकर ज़िले में चराने के लिए लाया जा रहा है. यहां ऐसे कई डेरे हैं जहां नाबालिकों को खरीदकर इनसे भेड़े चराने का काम करवाया जाता है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts