चित्तौड़गढ़ में फंसे 350 बच्चों पर TV9 भारतवर्ष के सवालों का जवाब नहीं दे पाए ADM, काट दिया फोन

एडीएम विनय पाठक ने कहा कि हम किसी तरह का कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं. ऐसे में बच्चों को स्कूल में ही रखा गया था लेकिन अब...

राजस्थान के चित्तौड़गौढ़ में एक स्कूल में बारिश के कारण 350 बच्चे और 50 टीचर फंसे हुए हैं. बच्चों और टीचर्स को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए टीवी9 भारतवर्ष मुहिम चला रहा है. इसी सिलसिले में हमने चित्तौड़गढ़ के एडीएम से बातचीत की. इस बातचीत में एडीएम टीवी9 भारतवर्ष के सवालों का जवाब नहीं दे पाए.

एडीएम पाठक ने कहा, “रेस्क्यू के लिए एसडीआरएफ की एक टीम कल से ही वहां पर तैनात है. मौके पर एसडीएम, तहसीलदार और खुद जिलाधिकारी भी मौजूद हैं. बहुत जल्द ही उन्हें निकाल लिया जाएगा. कोई चिंता की बात नहीं है. बच्चे पूरी तरह से सुरक्षित हैं और उनके खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है.”

उन्होंने कहा कि बच्चों के खंसे होने जैसी कोई बात नहीं है. बच्चे स्कूल में हैं. दोनों तरफ के ब्रिज पर गांधी सागर बांध के गेट खोलने से पानी का बहाव बहुत तेज है. इसलिए हम किसी तरह का कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं. ऐसे में बच्चों को स्कूल में ही रखा गया था लेकिन अब काफी समय हो चुका है. बच्चों को उनके माता-पिता तक पहुंचाने का काम शुरू कर दिया गया है.

एडीएम पाठक ने कहा कि बच्चों को एअर लिफ्ट कराए जाने की कोई आवश्यकता नहीं थी. हम पानी कम होने का इंतजार कर रहे थे. लेकिन अब पूरी टीम वहां पर मौजूद है. हम उन्हें जल्द ही निकाल लेंगे. हम बच्चों का रेस्क्यू एक-दो घंटे में कर लेंगे. प्रशासन की ओर से यह जानकारी दे दी गई थी कि बांध से पानी छोड़ा जाएगा. लेकिन इसके आगे वो सवालों में घिर गए और जवाब देने की बजाय फोन काट दिया.

ये भी पढ़ें-

प्रशासन ने अभी तक नहीं दिया राशन का सामान, चित्तौड़गढ़ के स्कूल में फंसे टीचर ने बताया हाल

LIVE: राजस्थान में बारिश के चलते 48 घंटे से स्कूल में फंसे 350 बच्चे, बचाने के लिए टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम जारी

यूपी में नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत बैलगाड़ी का काट दिया गया चालान