BJP विधायकों की गुजरात शिफ्टिंग पर बोले CM गहलोत- खतरा तो हमें था, इन्हें किस बात की चिंता?

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि BJP की अब पोल गई है. सरकार में तो हम लोग हैं, हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) की वजह से हमें अपने विधायकों को एक साथ रखना पड़ा, लेकिन भाजपा को किस बात की चिंता है.
CM Gehlot on BJP MLAs shifting to Gujarat, BJP विधायकों की गुजरात शिफ्टिंग पर बोले CM गहलोत- खतरा तो हमें था, इन्हें किस बात की चिंता?

राजस्थान में चल रही राजनीतिक उठापटक (Rajasthan Political Crisis) के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बीजेपी के विधायकों को गुजरात (Gujarat) शिफ्ट करने पर सवाल उठाते हुए कहा कि BJP की अब पोल गई है. सरकार में तो हम लोग हैं, हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) की वजह से हमें अपने विधायकों को एक साथ रखना पड़ा, लेकिन भाजपा को किस बात की चिंता है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

सीएम गहलोत ने विश्व आदिवासी दिवस पर मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने कहा बीजेपी के विधायक बाड़ेबंदी में जा रहे हैं. उनकी अब पोल खुल गई है. वो लोग ती-चार जगहों पर बाड़ेबंदी कर रहे हैं. गहलोत ने कहा कि राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने की परंपर रही ही नहीं है. पहले भी इस तरह के कई प्रयास हुआ हैं, लेकिन मैंने हर वक्त इसका विरोध किया है.

“सरकार को अस्थिर करने के षड्यंत्र के खिलाफ हमारी लड़ाई”

गहलोत ने कहा कि बीजेपी के जो स्थानीय नेता बड़े-बड़े दावे कर रहे थे, आज उनकी पोल खुल गई. जब वो चार्टर्ड प्लेन कर रहे हैं. विधायकों को भेज रहे हैं और बाड़ेबंदी करवा रहे हैं. मैं ये कहना चाहूंगा कि इस तरह कि परम्पराएं डेमोक्रेसी के लिए खतरे हैं. मैं बार-बार कहता हूं कि हमारी लड़ाई सरकार को अस्थिर करने के षड्यंत्र के खिलाफ है.

“जीवन बचाने के संघर्ष के बीच सरकार स्थिर करने में लगे”

सीएम ने कहा कि सरकार अच्छा काम कर रही थी, कोरोना को लेकर एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी काम किया. देश और दुनिया में राजस्थान की तारीफ हो रही थी, जहां जीवन बचाने का संघर्ष हो, वहां राजनीति पीछे हो जाती है. दुर्भाग्य से जीवन बचाने के संघर्ष में भी, आजीविका बचाने के संघर्ष के बावजूद भी इनको सरकारें स्थिर करने के लिए षड्यंत्र करने का टाइम मिल जाता है, तो आप सोच सकते हो कि गवर्नेंस में इनकी कितनी रुचि होगी, शासन करने में इनकी कितनी रुचि होगी.

“ये लोग डेमोक्रेसी को कमजोर कर रहे हैं”

दुर्भाग्य है देश का कि ऐसे लोग सत्ता में बैठे हुए हैं. ये लोग डेमोक्रेसी को कमजोर कर रहे हैं. 70 साल हमने बचाकर रखा है. सरकारें आई भी हैं, गई भी हैं, इंदिरा गांधी जैसी महान नेता चुनाव हार गई थीं, लेकिन जनता ने उनको सत्ता सौंप दी ढाई साल के अंदर. वाजपेयी जी के वक्त में देखा आपने, वो खुद बार-बार कहते थे कि डेमोक्रेसी हमारे लिए सर्वोपरि होनी चाहिए. डेमोक्रेसी की रक्षा होनी चाहिए. आज जिस-जिस राज्य में कांग्रेस की सरकार हैं, वहां एक के बाद एक सरकार पर हमला हो रहा है.

“बीजेपी के लोग देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे”

वसुंधरा राजे के दिल्ली में बीजेपी के बड़ नेताओं से मिलने के सवाल पर गहलोत ने कहा, “वो क्या करते हैं मुझे उससे कोई मतलब नहीं है. मुझे तो ये मतलब है कि बीजेपी के लोग देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे हैं. इस देश की जनता और प्रदेश की जनता इसको बर्दाश्त नहीं करेगी.”

“नाराज विधायकों से नहीं करने दी जा रही मुलाकात”

पायलट गुट के 19 विधायकों के वापस आने पर सीएम गहलोत ने कहा कि जिस तरह से उन 19 विधायकों की बाड़ेबंदी की गई वो काफी चिंताजनक है. बाउंसर्स लगा कर, दो-दो सौ लोग खड़े हैं. वहां उनसे किसी को मिलने नहीं दिया जा रहा है. SOG की टीम का विधायकों से मिलने जाने पर उन्होंने कहा कि इस मामले में एक मामूली सा नोटिस जारी किया गया था. उनसे SOG को बस पूछाताछ करनी थी, लेकिन उसे ऐसे दिखाया गया, जैसे हमने सभी को राजद्रोही बना दिया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts