sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट
sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट

राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने टीवी9 भारतवर्ष से खास बातचीत करते हुए कहा कि कुछ लोग लॉकडाउन (Lockdwon) को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. जबकि हमें सावधानी से कोरोना वायरस (Coronavirus) का मुकाबला करना है.
sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट

राजस्थान सरकार कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने पूरे प्रदेश को लॉकडाउन किया है. राजस्थान सरकार के उपमुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत की.

इस दौरान सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा कि इस महामारी से बचने का सबसे बड़ा उपाय है कि हम सावधानी रखें. साथ ही समय- समय पर सेनेटाईजर का उपयोग करते रहें. बार-बार हाथ धोने और सोशल डिस्टेंस बनाने से ही इस बीमारी से बचा जा सकता है.

सचिन पायलट ने टीवी9 भारतवर्ष से खास बातचीत में कहा कि निर्वाचन आयोग ने 26 को होने वाले राज्यसभा चुनाव को स्थगित किया है. यह इस समय बहुत अच्छा कदम है. आम जनता में इस कदम का अच्छा संदेश जाएगा कि जनसुरक्षा को प्राथामिकता दी है.

सावधानी से करना है मुकाबला

वहीं पायलट ने कहा कि कोरोना प्रकोप से मजबूती से मुकाबला करना है. पायलट ने जनता से अपील करते हुए कहा कि ये महामारी है .दुनिया के हर देश में पहुंच चुकी है. हमें सावधानी से मुकाबला करना है. केंद्र और राज्य के निर्देशों को पालन करें.

उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर लोगों ने सावधानी नहीं बरती उसकी स्थिति हम देख रहे हैं. इटली और अमेरिका जैसे विकसित देश इसका बड़ा उदारण हैं. भारत की बात करें तो यहां स्वास्थ्य सेवाओं का ढांचा विकसित देशों की तरह नहीं है. लिहाजा हमें ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए.

कठोर कदम उठाने पड़ेंगे

उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि भारतीय रेल को बंद किया गया है. युद्व के दौरान भी कभी रेल बंद नहीं हुई है तो आप अंदाज लगा सकते हैं कि हालात कितने खतरानाक हैं. राजस्थान को हमने सबसे पहले लॉकडाउन की घोषणा की. लॉकडाउन का लोग पालन कर रहे हैं लेकिन कुछ लोग इसको गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. जो लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं उन लोगों के चलते हमें और कठोर कदम उठाने पड़ेंगे.

मेरे मंत्रालय के अंदर नरेगा का काम आता है. हमने नरेगा मजदूरों के लिए पिछले हफ्ते ही कई दिशा-निर्देश जारी कर दिए थे. हमने कहा था कि एक जगह हाजिरी नहीं होगी. जन-जागरण अभियान चलाने के लिए कहा है. मजदूरों को समय पर पैसा मिलने के भी निर्देश जारी किए हैं.

सीएम फंड में दिए 1 लाख रुपये

उन्होंने कहा कि मैंने खुद भी 1 लाख रुपये की अर्थिक मदद मुख्यमंत्री कोविड-19 फंड में दिए हैं. सभी को इस आपातकाल जैसी स्थिति में मदद के लिए आगे आना चाहिए. मैंने राजस्थान में हमारे संगठन के सभी जिला अध्यक्षों को भी मदद के लिए कहा है. वहीं केंद्र सरकार को जल्द ही इस हालात के लिए विशेष पैकेज की घोषणा करनी चाहिए.

उमर अब्दुल्ला की रिहाई पर बोले पायलट 

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने मीडिया से बातचीत के दौरान जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के 232 दिन बाद रिहाई को स्वागत योग्य कदम बताया है. उन्होंने कहा कि बिना कारण से उनको डिटेन करके रखा गया था. दरअसल, सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट के भाई हैं उमर अब्दुल्ला. सचिन पायलट ने उमर अब्दुल्ला की रिहाई के तुरंत बाद ट्ववीट भी किया था.

sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट
sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट

Related Posts

sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट
sachin pilot on rajasthan lockdwon, राजस्थान: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिया तो उठाएंगे कठोर कदम – सचिन पायलट