पुराने प्यार के लिए पति ने सुपारी देकर करवाई पत्नी और 21 माह के मासूम की हत्या

आरोपी ने अपनी पत्नी और बेटे की हत्या की साजिश एकदम फिल्मी स्टाइल में रची. वो पत्नी से बात-बात पर जानबूझ कर लड़ता था.
husband killed wife, पुराने प्यार के लिए पति ने सुपारी देकर करवाई पत्नी और 21 माह के मासूम की हत्या

बीते मंगलवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर के प्रताप नगर ईलाके में एक महिला और उसके 21 माह के बच्चे की हत्या का मामला सामने आया. इस सनसनीखेज हत्या के बाद शहर में कानून व्यवस्था और पुलिस पर कई सवाल उठाए गए लेकिन आज जयपुर पुलिस ने हत्यारे पति को समेत 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

फिल्मी अंदाज में रची हत्या की साजिश

रोहित तिवारी ने पत्नी श्वेता तिवारी और बेटे श्रेयम की हत्या की साजिश एकदम फिल्मी स्टाइल में 3 महीने पहले ही रच ली थी. रोहित हर बार जानबूझ कर अपनी पत्नी से लड़ता था. कभी किसी बात को लेकर तो कभी किसी बात को लेकर वो लड़ाई के मौके ढूंढता था.

इस डबल मर्डर की प्लानिंग लेक सिटी उदयपुर से शुरू हुई जब रोहित तिवारी की पोस्टिंग उदयपुर में थी. रोहित तिवारी की मुलाकात हरीसिंह नामक व्यक्ति से हुई. रोहित ने हरीसिंह को अपने पुराने प्यार और पारिवारिक जिंदगी के बारे में बताया कि मैं अपनी पत्नी से खुश नहीं हूं और अपने पुराने प्यार के साथ एक नयी जिंदगी की शुरुआत करना चाहता हूं.

इस पर हरी सिंह ने रोहित को सहारा देते हुए ये विश्वास दिलाया कि वह रोहित की मदद भी किसी हद तक करेंगा. उसके बाद हरीसिंह ने रोहित की मुलाकात जयपुर निवासी अपने साले सौरभ चौधरी से करवाई. उसके कुछ दिन बाद रोहित का ट्रांसफर फिर से जयपुर हो गया और रोहित की मुलाकात सौरभ चौधरी से रोजाना होने लगी.

रोहित सौरभ को अपने घर भी लाने लगा ताकि उसकी पत्नी श्वेता की सौरभ से अच्छी जान पहचान हो जाये. सौरभ फैमिली फ्रेंड की तरह लगातार रोहित के घर आता-जाता रहा. 3 जनवरी को सांगानेर ईलाके के फ्लाईटव्यू होटल में सौरभ और हरिसिंह के साथ रोहित ने हत्या का दिन तय किया. इस दौरान रोहित ने सौरभ को कुछ रकम एड़वास में दी. मीटिंग के बाद रोहित ने योजना को अंनजाम देने की तारिख 7 जनवरी तय की और 7 जनवरी को रोहित योजना के तहत शातिराना अंदाज में सुबह से शांम तक अपने एयरपोर्ट स्थित ऑफिस पर ही रहा. रोहित ने योजना के चलते अपने ऑफिस के CCTV कैमरों के तार 23 दिसंबर को ही हटा दिया थे ताकि रोहित कोई गतिविधियां कैमरों में कैद न हों.

CCTV फुटेज से हुआ खुलासा

SP राहुल जैन ने बताया कि, 7 जनवरी को प्रतापनगर के यूनिट टॉवर सेक्टर 26 के फ्लैट नंबर I-103 से करीब 6 बजे पुलिस को मर्डर की सूचना मिली थी. रोहित तिवारी की पत्नी की हत्या के बाद पुलिस को उसका 21 महीने का बेटा भी नहीं मिल रहा था, जोकि बुधवार को यूनिट टॉवर सोसाइटी के पीछे जंगल में मिला. घटना के बाद पुलिस ने आस-पास के सभी CCTV कैमरों को चेक किया और रोहित के घर कौन-कौन आता था उस बारे में पता किया. सख्ती से पूछताछ करने पर सामने आया कि रोहित तिवारी ने ही पत्नी की हत्या की साजिश रची. वहीं पुलिस ने रोहित के साथ-साथ अरोपी सौरभ उर्फ राजकुमार को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस अभी दूसरे आरोपी  हरिसिंह की तलाश कर रही है.

Related Posts