बलात्कार की घटनाओं से फिर शर्मसार हुआ राजस्थान, आखिर कब जागेगी सरकार?

राजस्थान की राजधानी जयपुर हो, अपने किले के लिए पहचाने जाने वाला चित्तौड़गढ़ या पर्यटन के लिए मशहूर अलवर, सभी बलात्कार जैसे अपराध के गवाह बन चुके हैं. राज्य में बलात्कार की खबरें थमने का नाम नहीं ले रही हैं.

जयपुर: क्या राजस्थान धीरे-धीरे निर्मम बलात्कारों की राजधानी का रूप अख्तियार करता जा रहा है? यह सवाल पूछने का कारण है पिछले चंद दिनों में राज्य में घटी बलात्कार की भीषण घटनाएं. राजस्थान की राजधानी जयपुर हो, अपने किले के लिए पहचाने जाने वाला चित्तौड़गढ़ या पर्यटन के लिए मशहूर अलवर, सभी बलात्कार जैसे अपराध के गवाह बन चुके हैं. राज्य में बलात्कार की खबरें थमने का नाम नहीं ले रही हैं.

अभी पुलिस उन बलात्कार के आरोपियों तक भी नहीं पहुंच सकी है कि पांच साल की मासूम और एक विदेशी महिला पर्यटक से बलात्कार के नए मामले सामने आए हैं. इंसानियत को शर्मसार करने वाला यह नया मामला है चित्तौड़गढ़ जिले का. जिला मुख्यालय के कोतवाली थाना क्षेत्र में एक दरिंदे ने 5 साल की मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया है.

दिहाड़ी पर काम करने वाले एक मजदूर की 5 साल की बेटी हमेशा की तरह पड़ोस की दुकान पर सामान खरीदने गई थी. इसी दौरान वहां मौजूद उसके एक पड़ोसी ने उसे जंगल में ले जाकर दुष्कर्म किया. इसके बाद मासूम रोते हुए घर पहुंची और माता पिता उसे लेकर कोतवाली थाने गए. जहां लगभग ढाई घंटे बाद उसका मेडिकल कराया गया. जिसमें मासूम के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई. बलात्कार के इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लिया है.

अजमेर में विदेशी पर्यटक के साथ हुआ बलात्कार

बलात्कार का एक और मामला अजमेर सिविल लाइन थाना इलाके में भी घटा. दरअसल एक युवक ने जयपुर से आई पर्यटक महिला के साथ बलात्कार किया. सिविल लाइन थाना अधिकारी नरेंद्र कुमार ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जयपुर से एक महिला पर्यटक कल अजमेर और पुष्कर घूमने आई थी.

बलात्कार, बलात्कार की घटनाओं से फिर शर्मसार हुआ राजस्थान, आखिर कब जागेगी सरकार?

महिला पर्यटक का आरोप है कि पुष्कर में उसकी मुलाकात जीवन माली नाम के व्यक्ति से हुई. जीवन माली ने अपने आप को टूरिस्ट गाइड बताते हुए उसे अजमेर और पुष्कर के सभी पर्यटक स्थलों को घुमाने की बात कही. पीड़ित महिला ने बताया कि वह जीवन माली की बातों में आ गई और उसके साथ अजमेर और पुष्कर घूमने के लिए निकल गई.

वहीं बस स्टैंड के सामने होटल आर्यन में युवक ने मौका पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके 18000 रुपये लेकर रफूचक्कर हो गया. घटना के बाद तुरंत सिविल लाइन थाने में जीवन माली के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करवाया है.

पुलिस ने बताया कि इस मामले के बाद उन्होंने मेडिकल करवाया है. साथ ही आरोपी युवक की तलाश के लिए जांच दल को रवाना कर दिया. साथ ही पुलिस महिला द्वारा लगाए गए आरोपों में कितनी सच्चाई है इस बात की भी जांच कर रही है.

पिछले दिनों महिला का पति के सामने किया था निर्मम बलात्कार

चंद दिनों पहले भी एक महिला के साथ उसके पति के सामने बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया था. अलवर में एक महिला अपने पति के साथ बाजार जा रही थी. तभी पांच युवकों ने थानागाजी के पास उनकी बाइक रुकवाई और फिर पति के सामने ही उसका बलात्कार किया. पीड़िता के मुताबिक, उसने बलात्कार का जितना विरोध किया, उन पांचों ने उतने ही जोर से उसे और उसके पति को पीटा. उन लोगों ने बलात्कार का वीडियो भी बनाया.

बलात्कार, बलात्कार की घटनाओं से फिर शर्मसार हुआ राजस्थान, आखिर कब जागेगी सरकार?

जितनी बुरी करतूत बलात्कारियों ने की उतनी ही बुरी करतूत का आरोप पुलिस पर भी लग रहा है. जानकारी के मुताबिक पुलिस ने चुनाव के चलते इस मामले को चार दिनों तक दबाए रखा. लेकिन तब तक बलात्कार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. हालांकि इस आरोप के बाद राजनीतिक हुक्मरान सिवाय बयानबाजी के कुछ करते हुए नहीं दिखाई दे रहे हैं. लेकिन जनता में आक्रोश साफ देखा जा सकता है.

अलवर हो या जयपुर, राजस्थान के कई इलाकों में राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं समेत अन्य आम लोग सड़कों पर उतर आए हैं. लोग अलवर में हुए बलात्कार के मामले को पुलिस द्वारा दबाए रखने को लेकर पीड़ित महिला को इंसाफ दिलाने की मांग कर रहे हैं. हालांकि राजस्थान को अब भी यह सोचना होगा कि आखिर क्यों आए दिन राजस्थान की धरती पर महिलाओं के साथ ये जघन्य अपराध हो रहे हैं.

बलात्कार पर हो रही है सियासत 

बलात्कार का जैसे-जैसे विरोध तेज हुआ वैसे ही राजनेता भी इसको देख सक्रीय हो गए. राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने कहा है कि पुलिस द्वारा किसी भी स्तर पर लापरवाही या अनियमितता पाए जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी. महिला सुरक्षा के प्रति सरकार पूर्णतया प्रतिबद्ध है.

बलात्कार, बलात्कार की घटनाओं से फिर शर्मसार हुआ राजस्थान, आखिर कब जागेगी सरकार?

जबकि पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार को बलात्कार के मसले पर घेरा है. उन्होंने इस सामूहिक दुष्कर्म की घटना को प्रदेश के लिए बेहद शर्मनाक बताया. वसुंधरा राज ने कहा कि ऐसे जघन्य अपराध कांग्रेस सरकार के महिला और बेटियों को सुरक्षित माहौल देने के दावों की पोल खोल रहे हैं. केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह ने भी गुरुवार को कुछ कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर बलात्कार के इन मामलों के प्रति विरोध प्रदर्शन किया.

हालांकि बलात्कारों पर लगाम लगाने में राजनीतिक दल और पुलिस अब तक कामयाब होते नहीं दिख रहे हैं. वहीं जनता कई सवाल लेकर खड़ी है. इसी के साथ एक डर भी राजस्थान को है कि क्या पर्यटन और संस्कृति की पहचान के लिए दुनियाभर में मशहूर राजस्थान पर महिलाओं के लिए असुरक्षित राज्य होने का भद्दा दाग लग जाएगा.

ये भी पढ़ें: नाबालिग छात्रा से किया दुष्कर्म, फिर अश्लील वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल