राजस्थान: राम मंदिर के सवाल पर बोले राज्यपाल कलराज मिश्र इस दीपावली राजभवन होगा जगमग

कलराज मिश्र ने कहा कि राम मंदिर का निर्णय आने के बाद मंदिर निर्माण से संबधित लोग राजस्थान से पत्थर ले जाने के कार्य में लगेंगे.

देश और प्रदेश की कई घटनाओं पर राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने टीवी9 भारतवर्ष से खास बातचीत की. उन्होंने प्रदेश में नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर गम्भीरता दिखाई है. राज्यपाल ने इस मसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि इस सामाजिक बुराई को समाप्त करने के लिए समाज में जागरूकता की आवश्कयता है.

राज्यपाल ने कहा हम दुर्गा और सरस्वती के पुत्र है. ऐसे पुत्र होने के बाद ऐसी बलात्कार जैसी बात दिमाग में नहीं आनी चाहिए. जिसके कारण हमारी बहनें अपने आप को असुरक्षित समझें. राजस्थान में अधिकतर सरकारी नौकरियां कोर्ट में हैं. जिसके कारण बेरोजगारी बढ़ रही है, इस सवाल पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा सरकारी नौकरियों में अधिक से अधिक पारदर्शिता रहे इस दिशा में प्रयास होना चाहिए.

कलराज मिश्र ने यह भी साफ कर दिया कि राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच विवाद अगर जनहित आड़े आया तो जरूरत पड़ने पर वह दोनों से बात करेंगे. राम मंदिर मामले पर राज्यपाल ने कहा कि इस बार राजभवन में दीपावली का भव्य समारोह होगा. राम मंदिर का निर्णय आने के बाद मंदिर निर्माण से संबधित लोग राजस्थान से पत्थर ले जाने के कार्य में लगेंगे.

इस बार पहली बार राजभवन के अन्दर हनुमत चरित्र कथा का अयोजन होगा. राज्यपाल कलराज मिश्र राम मंदिर आनंदोलन के दौरान कारसेवा से जुड़े रहे हैं. इसलिए अब इस कार्यक्रम के भी कई मायने निकाले जा रहे हैं. हांलाकि राममंदिर के सवाल पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने कोर्ट में मामला होने की बात कही.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस की अंतरकलह फिर आई सामने, निकाय चुनाव को लेकर पायलट और गहलोत हुए आमने-सामने