16 साल से भारत में बिना लाइसेंस इलाज कर रहा डॉक्‍टर अरेस्‍ट, पाकिस्‍तान से ली थी डिग्री

गिरफ्तार डॉक्टर ने पाकिस्तान में मेडिकल की पढ़ाई की थी. साल 2004 में वह भारत आया है. इससे पहले तक वह पाकिस्तान में मेडिकल प्रैक्टिस करने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था.

राजस्थान के जोधपुर पुलिस ने शनिवार को एक 44 साल के पाकिस्तानी हिंदू प्रवासी को बिना लाइसेंस के काम करने के लिए गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार डॉक्टर ने पाकिस्तान में मेडिकल की पढ़ाई की थी. साल 2004 में वह भारत आया है. इससे पहले तक वह पाकिस्तान में मेडिकल प्रैक्टिस करने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था.

अधिकारियों ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि नूरजी भेल को गिरफ्तार किया गया है, क्योंकि उसके पास भारत में मेडिकल प्रैक्टिस करने के लिए वैध लाइसेंस या प्रमाणपत्र नहीं है. उनके खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

हालांकि, नूरजी भेल के परिवार वालों ने शनिवार को पुलिस पर उनके साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है. इस मामले पर समाजिक कार्यकर्ताओं ने इस घटना को भारत में शरण लेने आए अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न की एक मिसाल करार दिया है. नूरजी भेल के छोटे भाई खिवराज ने कहा कि मेरे बड़े भाई ने एक छोटा क्लिनिक खोला था. वह ज्यादातर प्रवासियों का इलाज करते थे और भारत में प्रिसक्राइब मेडिसिन ही देते थे.

पुलिस ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है, लेकिन नूरजी भेल के साथ मार पीट करने के आरोप को खारिज कर दिया है. चौपासनी हाउसिंग बोर्ड पुलिस स्टेशन के एसएचओ परमेश्वरी ने बताया कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. वह एक क्लिनिक चलाता था.

ये भी पढ़ें – 

अलवर : मकान से टकराई गाड़ी तो हुआ ‘गौ तस्‍करी’ का खुलासा, मामला दर्ज

परिवहन विभाग घोटाला: हनुमान बेनीवाल ने CM गहलोत पर साधा निशाना, बोले- कहां जाती है इतनी रकम?

ACB ने किया परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार का खुलासा, 6 अफसर और 8 दलाल अरेस्ट, 1.20 करोड़ बरामद

Related Posts