Rajasthan Politics: जैसलमेर से जयपुर लौटे विधायक, कांग्रेस की बाड़ेबंदी अब भी जारी

विधायकों के लौट आने के बावजूद गहलोत (Gehlot) खेमे के ज्यादातर MLAs पायलट (Pilot) खेमे पर अब भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं. इन्हें डर है कि कहीं फिर से धोखा न हो जाए.
Rajasthan CM Ashok Gehlot, Rajasthan Politics: जैसलमेर से जयपुर लौटे विधायक, कांग्रेस की बाड़ेबंदी अब भी जारी

राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की सरकार को समर्थन देने वाले विधायक अब जैसलमेर के होटल सूर्यगढ़ से जयपुर लौट आए हैं. इंडिगो एयरलाइंस के विशेष विमान से सभी विधायक जयपुर एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से चार बसों के जरिए विधायकों को होटल फेयरमोंट ले जाया गया है.

सीएम गहलोत अगले दो दिन तक इन विधायकों के साथ चर्चा करेंगे. कांग्रेस विधायक दल की बैठक भी आयोजित होगी. माना जा रहा है कि सचिन पायलट खेमे के 19 विधायक भी जल्द ही फेयरमोंट पहुंच सकते हैं.

14 अगस्त से विधानसभा सत्र होगा शुरू

14 अगस्त से विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है. कांग्रेस अब बीजेपी के सवालों का जवाब देने और उठाए जाने वाले मुद्दों की तैयारी में जुट गई है. लेकिन प्रदेश कांग्रेस संगठन और सीएम गहलोत अब छाछ को भी फूंक-फूंककर पिएंगे. इसके संकेत इसी बात से लग गए हैं कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी अब भी जारी है.

विधायकों के लौट आने के बावजूद गहलोत खेमे के ज्यादातर विधायक पायलट खेमे पर अब भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं. इन्हें डर है कि कहीं फिर से धोखा न हो जाए. हालांकि, मुख्यमंत्री गहलोत खुद कह चुके हैं कि हम भूलो और माफ करो के नारे के आधार पर आगे बढ़ना चाहते हैं और पार्टी आलाकमान के निर्णय का स्वागत करते हैं.

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पाण्डे ने कहा कि आज बहुत खुशी है कि कांग्रेस का पूरा परिवार और हमारे सभी सहयोगी एकजुट हैं और मजबूती के साथ अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार के साथ सभी खड़े हैं. हमें बड़ी खुशी है कि हमारे सभी सहयोगी दल इस पूरे एक माह से ज्यादा के संघर्ष में डटे रहे.

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को बचाने की यह लड़ाई थी. इसमें राजस्थान की जनता, कांग्रेस और कांग्रेस के सहयोगी हमारे सभी विधायकों ने जिस एकजुटता का परिचय दिया है, उसके लिए हम सब उनका धन्यवाद देते हैं.

‘हमारे साथी अपने घर वापस आ गए’

अविनाश पाण्डे ने कहा, “सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के सहयोग से हमारे साथी अपने घर वापस आ गए हैं. हम उनका स्वागत करते हैं. आगे हम सब मिलकर मजबूती के साथ अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान की जनता की सेवा करेंगे. जो 5 साल का कार्यकाल राजस्थान की जनता ने विश्वास जताकर दिया है, हम उस पर खरे उतरेंगे और 2023 के आगामी चुनाव में भी निश्चित रूप से राजस्थान की जनता कांग्रेस को फिर से अवसर देगी.”

उधर, मंत्री प्रताप सिंह खचारियवास ने कहा कि कुछ विधायकों को जरूर आपत्ति थी, उन्होंने अपनी बात विधायक दल की बैठक में रखी. वो चाहते है कि बागियों पर कार्रवाई हो.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts